एसपी की एक और कार्रवाई- अब रक्षित निरीक्षक को किया सस्पेंड, जांच जारी

हालांकि अभी इस मामले की जांच की जा रही है कि आखिरकार पुलिसकर्मियों द्वारा चिप कहां से लाई गई।

सिवनी, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के सिवनी (seoni) जिले में पुलिस विभाग की वाहन शाखा में डीजल-पेट्रोल बिल (Diesel petrol bill) गड़बड़ी मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। जिसके बाद अब इस मामले में सिवनी एसपी कुमार प्रतीक (kumar pratik) ने रक्षित निरीक्षक सुनील नागवंशी (sunil nagvanshi) पर एक्शन लिया है। सिवनी एसपी कुमार प्रतीक ने रक्षित केंद्र की वाहन शाखा के निरीक्षक सुनील रघुवंशी को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है।

दरअसल रक्षित केंद्र में पदस्थ रक्षित निरीक्षक सुनील नागवंशी द्वारा वाहन शाखा के डीजल पेट्रोल बिलों में गड़बड़ी मामले में लापरवाही बरती गई है। जिसके बाद सिवनी एसपी ने रक्षित निरीक्षक सुनील नागवंशी को सस्पेंड कर दिया है। हालाकि डीजल पेट्रोल बिलों में घोटाले मामले में सुनील नागवंशी के शामिल होने की बात सामने नहीं आई है लेकिन इस मामले में रक्षित निरीक्षक सुनील नागवंशी की लापरवाही पर उनके खिलाफ एक्शन लिया गया है।

Read More: Scholarship : छात्रों को एक और बड़ी राहत, अब इस तारीख तक कर सकते है आवेदन

इस मामले में सिवनी एसपी का कहना है कि रक्षित केंद्र की वाहन शाखा में डीजल पेट्रोल के बिलों में घोटाला हुआ है। वहीं केंद्र के निरीक्षक को कार्य में लापरवाही बरतने के मामले में निलंबित किया गया है। इससे पहले इस मामले में चार पुलिसकर्मी के खिलाफ भी कार्रवाई की गई थी।

बता दें कि रक्षित केंद्र वाहन शाखा में पदस्थ शाखा प्रभारी शत्रुघ्न बोड्से, सहायक अनिल सरयाम, दीपक अमुले, उमाकांत डहाके को निलंबित किया गया था। ये कर्मचारी वाहन मायलो मीटर में चिप लगाकर रीडिंग बढ़ाते थे और डीजल पेट्रोल के बिल में हेरा फेरी करते थे।जिसके बाद वीडियो वायरल होने के बाद सिवनी एसपी ने प्रारंभिक कार्रवाई करते हुए चारों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। हालांकि अभी इस मामले की जांच की जा रही है कि आखिरकार पुलिसकर्मियों द्वारा चिप कहां से लाई गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here