गर्म सलाखों से दागने से मासूम की मौत का मामला-बच्ची के शव का कब्र से निकाल कर किया गया पोस्टमार्टम

indore news

Shahdol- Pneumonia Superstition Innocent Death : मध्यप्रदेश के शहडोल में ढाई माह की बच्ची की 51 बार गर्म सलाखों से दागने के बाद बिगड़ी हालत के चलते इलाज के दौरान मौत हो गई थी। अब इस मामले में पुलिस जांच के चलते शुक्रवार को बच्ची के शव को कब्र से निकालकर शनिवार को उसका पोस्टमॉर्टम करवाया गया। पुलिस का कहना है कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद मौत का सही कारण पता चल सकेगा। इस मामलें में शहडोल कलेक्टर ने बच्ची की मौत का कारण निमोनिया बताया था जबकी पुलिस ने जांच के बाद ही सच सामने आने की बात कही थी।

यह था मामला 

26 जनवरी को शहडोल जिले के सिंहपुर थाना अंतर्गत ग्राम कठौतिया में एक ढाई माह की बच्ची रुचिका कोल को 51 बार गर्म सलाखों से दागा गया था। बच्ची को निमोनिया था और अंधविश्वास के चलते परिजन उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाने की बजाए झाड़ फूँक के लिए ले गए जहां बच्चों को निमोनिया दूर करने के नाम पर 51 बार गर सलाखों से दागा गया। इसके बाद बच्ची की हालत और बिगड़ गई।  बच्ची की हालत नाजुक होने की वजह से उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। यहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके बाद बच्ची को ग्रामीणों ने कठौतिया गांव में दफना दिया। अधिकारियों के बयान आने के बाद लोगों ने इसका विरोध किया, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और शव को कब्र से निकालकर जांच शुरू की। शुक्रवार को बच्ची के शव को जमीन से खोदकर निकाला गया वही शनिवार को डाक्टर्स की टीम ने उसका पोस्टमार्टम किया।

कलेक्टर और डाक्टर्स का अलग अलग बयान 

इस मामले के सामने आने के बाद शहडोल कलेक्टर वंदना वैद्य ने बिना जांच पड़ताल के ही बच्ची की मौत का कारण फेफड़े और मस्तिष्क में इंफेक्शन और निमोनिया बढ़ना बताया था।  वहीं, मेडिकल कॉलेज के डीन निलेंद्र शिरालकर का मानना है कि संक्रमण का सोर्स सलाखों से दागना था। दागने की वजह से संक्रमण बढ़ा, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने भी इस मामलें में जांच के बाद ही मौत की असल वजह बताने की बात कही थी।

शुक्रवार को बाहर निकाला शव, शनिवार को पोस्टमार्टम 

पुलिस ने मौत का कारण जानने के लिए शुक्रवार को बच्ची का दफन शव बाहर निकलवाया। इसकी पूरी वीडियोग्राफी की गई। वही शनिवार को मेडिकल कॉलेज शहडोल में फारेंसिक चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम ने बालिका का पीएम किया। मामलें की गंभीरता को देखते हुए शहडोल एसपी प्रतीक कुमार ने एफआइआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे।

पीएम रिपोर्ट के बाद होगा खुलासा

सिंहपुर थाना प्रभारी एमपी अहिरवार के अनुसार मामला दर्ज होने के बाद मौत की असल वजह सामने लाने शव को शुक्रवार की शाम करीब 6 बजे के आसपास निकलवाया था। जिसे रात में मेडिकल कॉलेज में रखा गया था। शनिवार को उसका पीएम करवाया गया। पीएम रिपोर्ट आने के बाद मामले का खुलासा होगा। जिसके बड़ा आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

 


About Author
Avatar

Harpreet Kaur

Other Latest News