जब सिक्कों से भरा बोरा लेकर जा पहुंचा युवक स्कूटी के शोरूम

युवक के पास 1 और 2 रू की चिल्लर थी जिसे वह बाइक पर रखकर आया था। हौंडा शोरूम के संचालक राजकुमार ने भी युवक की भावनाओं को समझते हुए चिल्लर स्वीकार की और कहा कि भारतीय मुद्रा हर रूप में स्वीकार है।

शहडोल डेस्क रिपोर्ट। शहडोल जिले में एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां एक युवक स्कूटी खरीदने के लिए सिक्कों से भरा बोरा लेकर शोरूम पहुंच गया। शोरूम संचालक ने भी युवक की भावनाओं को समझते हुए सिक्कों को स्वीकार कर उसे स्कूटी दे दी।

जब सिक्कों से भरा बोरा लेकर जा पहुंचा युवक स्कूटी के शोरूम

यह भी पढ़ें…इंदौर में आवारा बदमाशों का आतंक, कमिश्नर प्रणाली लागू लेकिन रहवासी पुलिस व्यवस्था से नाखुश, पुलिस चौकी की मांग को लेकर हंगामा।

शहडोल के होन्डा शोरूम के संचालक उस समय हैरान हो गए जब सुबह सुबह एक युवक एक बोरा घसीटते हुए शोरूम के अंदर आया। पूछने पर युवक ने बताया कि बोरे में सिक्के भरे हैं और वह स्कूटी खरीदने आया है। सोहागपुर का रहने वाले अजीत द्विवेदी नामक युवक के परिवार में खानदानी पंडिताई होती है और यह सिक्के उसे भगवान पर चढ़ावे में मिले थे। युवक का कहना है कि उनके पास 25000 रू के सिक्कों की चिल्लर इकट्ठी हो गई थी जिसे लेकर वह होंडा शोरूम में स्कूटी खरीदने आया है। युवक के पास 1 और 2 रू की चिल्लर थी जिसे वह बाइक पर रखकर आया था। हौंडा शोरूम के संचालक राजकुमार ने भी युवक की भावनाओं को समझते हुए चिल्लर स्वीकार की और कहा कि भारतीय मुद्रा हर रूप में स्वीकार है। हालांकि शोरूम के कर्मचारियों को स्कूटी बेचना महंगा पड़ा क्योंकि सिक्कों को गिनने में कम से कम तीन घंटे का समय लग गया। लेकिन युवक की भावनाओं को सर्वोपरि रखते हुए उन्होंने यह काम बड़ी मेहनत से किया। शोरूम संचालक का कहना है कि यह पहला मौका है जब इतनी बड़ी संख्या में कोई सिक्के लेकर खरीदारी करने आया है। अभी तक ज्यादा से ज्यादा दो या तीन हजार रू तक की राशि के सिक्कों लेकर लोग आए हैं। बहरहाल यह पूरा मामला शहडोल शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है।