Shahdol News : शिक्षा माफिया पर बड़ा एक्शन, 14 अशासकीय विद्यालयों पर 28 लाख का लगा जुर्माना

आगामी शैक्षणिक सत्रों में स्कूल फीस में वृद्धि न हो, स्कूल ड्रेस में परिवर्तन न हो और अभिभावक निर्धारित दरों पर स्कूल से किताबें खरीद सकें।

Collector Shahdol

Shahdol News : मध्य प्रदेश के शहडोल जिले से एक बड़ी खबर आ रही है। जहाँ जिला प्रशासन ने संचालित निजी स्कूल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। 14 निजी स्कूल के खिलाफ 28 लाख का जुर्माना लगाया गया है। कलेक्टर ने आदेश दिया है कि संबंधित स्कूल संचालक अभिभावकों को बढ़ी हुई राशि तत्काल वापस करें।

आगामी शैक्षणिक सत्रों में न हो कोई परिवर्तन

शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि निजी स्कूल संचालकों की ओर से छात्रों के अभिभावकों से नियमों के विरुद्ध वसूली की गई थी। शासन ने अतिरिक्त राशि को वापस करने के निर्देश निजी स्कूल के संचालकों को दिए हैं। आगामी शैक्षणिक सत्रों में स्कूल फीस में वृद्धि न हो, स्कूल ड्रेस में परिवर्तन न हो और अभिभावक निर्धारित दरों पर स्कूल से किताबें खरीद सकें।

जुर्माना की राशि 30 दिन के अंदर करें जमा

आदेशानुसार कहा गया है कि संस्था द्वारा सत्र 2022-23 से फीस वृद्धि कर संग्रहित की गई संपूर्ण राशि उनके पालक या अभिभावकों को आनलाइन नेट बैंकिग के माध्यम से 30 दिन के अंदर वापस किया जाना सुनिश्चित करें। उक्त नियम के उपबंध 9 (9) का प्रयोग करते हुए संस्था पर प्रतिदाय आदेश के अतिरिक्त प्रत्येक स्कूल पर 2-2 लाख रुपए की शास्ति अधिरोपित की जाती है। इस प्रकार कुल 24 लाख रुपए की राशि को 30 दिन के अंदर नियम के नियम 3(3) अंतर्गत प्रावधानित संचालक, लोक शिक्षण संचालनालय के खाते में जमा कराना सुनिश्चित कर पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करें, अन्यथा राशि भू-राजस्व के बकाया के रूप में वसूल की जा सकेगी।

निजी स्कूल को दी चेतावनी

साथ ही निजी स्कूल को चेतावनी दी गई है कि भविष्य में मप्र निजी विद्यालय (फीस और संबंधित विषयों का विनियमन) अधिनियम 2017, मप्र निजी विद्यालय (फीस और संबंधित विषयों का विनियमन) नियम 2020 के उपबंधों और मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग के मार्गदर्शी सिद्धांतों का पूर्ण रूपेण पालन किया जाना सुनिश्चित करें।

इन स्कूलों पर हुई कार्रवाई

  1. अशासकीय मिलेनियम ड्रीम इंटरनेशलन स्कूल ब्यौहारी
  2. भारतीयम स्कूल ब्यौहारी
  3. क्रिस्ता ज्योति मिशन स्कूल बुढार
  4. ग्रीन वेल्स पब्लिक स्कूूल बुढार
  5. एमजीएम स्कूल गोपालपुर
  6. ज्ञान निकेेतन इंग्लिश मीडियम स्कूल
  7. विद्यासागर सीनियर स्कूल बुढार
  8. शहडोल के गुड शेफर्ड कान्वेंट स्कूल सोहागपुर
  9. ज्ञानोदय इंग्लिश मीडियम स्कूल
  10. भारत माता स्कूल
  11. शांति देवी मेमोरियल स्कूल सोहागपुर
  12. सद्गुरू पब्लिक स्कूल
  13. एमजीएम स्कूल धनपुरी
  14. टाइम पब्लिक स्कूल शहडोल

About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है।वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”