Shahdol News : एंबुलेंस में मरीज़ों की सेवा की जगह हो रही नशीली दवाइयों की तस्करी, चार आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने उनके कब्जे से एंबुलेंस से कुल 255 नग इंजेक्शन बरामद किए गए हैं। चारों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस और ड्रग कंट्रोल एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।

Amit Sengar
Published on -
arrest

Shahdol News : मध्य प्रदेश के शहडोल जिले की पुलिस को नशे के सौदागरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए नशीले इंजेक्शन की बड़ी खेप बरामद की है। पुलिस ने शुक्रवार को चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने उनके कब्जे से एंबुलेंस से कुल 255 नग इंजेक्शन बरामद किए गए हैं।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि पुलिस को सूचना मिली कि देर रात एंबुलेंस क्रमांक सीजी 04 एनजेड 6054 जबलपुर से शहडोल आ रही थी, जैसे ही एंबुलेंस शहडोल के आकाशवाणी के ठीक सामने पहुंची तो पहले से ही तैनात कोतवाली पुलिस की टीम ने एंबुलेंस को रुकवाया। इसके बाद उसकी तलाशी ली गई तो उसमें से 255 नग नशीले इंजेक्शनों का बड़ा जखीरा बरामद किए गए हैं, जो बिक्री के लिए पूर्णतः प्रतिबंधित हैं। इन इंजेक्शनों की कुल कीमत पुलिस ने लगभग 25 हजार रुपए बताई गई है। वहीं एंबुलेंस की कीमत लगभग 10 लाख रुपए आंकी गई है। पुलिस ने शुक्रवार को चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही एंबुलेंस को कोतवाली में खड़ा करवा दिया गया है।

कोतवाली पुलिस के समक्ष तीन आरोपियों राहुल शुक्ला, संदीप सोनी और आदित्य उपाध्याय ने अपना अपराध कबूल किया है कि वे नशीले इंजेक्शनों की खेप ट्रेन के माध्यम से भोपाल से लेकर शहडोल आ रहे थे। शहडोल स्टेशन पर उनपर किसी की नजर ना पड़े इसलिए तीनों आरोपी नशीले इंजेक्शनों से भरे बैग को लेकर पाली के समीप वाले मुदरिया स्टेशन पर ही उतर गए। मौके पर पूर्व निर्धारित समयानुसार 108 एंबुलेंस का चालक विजय केवट एंबुलेंस लेकर उनका इंतजार कर रहा था। तीनों आरोपी उक्त एंबुलेंस में सवार होकर शहडोल नशे की खेप लेकर आ ही रहे थे कि आकाशवाणी के समीप पुलिस द्वारा दबोच लिए गए। चारों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस और ड्रग कंट्रोल एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News