मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री के भाई के खिलाफ 02 अगस्त से सड़कों पर उतरेगा सिंधी समाज, बैंक कर्मी के साथ मारपीट का मामला

शाजापुर, डेस्क रिपोर्ट। शाजापुर (Shajapur ) में बैंक कर्मी (Bank Employee ) से मारपीट की घटना के बाद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही न होने से नाराज सिंधी समाज ने 02 अगस्त को काला दिवस ( Black Day) मनाने का फैसला किया है।

स्कूल शिक्षा मंत्री के भाई के खिलाफ सिंधी समाज ने खोला मोर्चा, मारपीट करने वाले मंत्री के भाई पर कार्रवाई न होने से नाराज

गौरतलब है कि 15 जुलाई को शाजापुर के पोचानोर सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank Of India ) के कर्मचारी नरेश फूलवानी के साथ स्कूल शिक्षा मंत्री(School Education Minister) इंदर सिंह परमार के भाई हरिप्रसाद परमार ने मारपीट की थी, और सड़क पर दौड़ाकर दौड़ाकर पीटा था। घटना के बाद पुलिस ने बैंक कर्मी नरेश फूलवानी के खिलाफ ही मामला दर्ज कर लिया था। घटना के बाद से बैंक कर्मी नरेश फूलवानी के समर्थन में सिंधी समाज ने मुख्यमंत्री, गृह मंत्री सहित डीजीपी के नाम से ज्ञापन सौंपकर घटना की निष्पक्ष जांच की मांग की थी। लेकिन कोई सुनवाई न होने से नाराज अब सिंधी समाज ने 02 अगस्त से अपना विरोध जताने का फैसला किया है।

दो नदियों के बीच बने टापू पर फंसी कार, ग्रामीणों ने टुयूब की मदद से रेक्सयू कर बाहर निकाला

सिंधी सेंट्रल पंचायत कोर ग्रुप की बैठक में सदस्यों समेत पदाधिकारियों ने निर्णय लिया है कि घटना के विरोध में सिंधी समाज 02 अगस्त के दिन काले दिवस के रूप में मनाएगा। इस दिन प्रदेश भर में घरों, दुकानो, वाहनों पर 03 सूत्रीय मांगों के पोस्टर बैनर स्टीकर लगाए जाएंगे। इसके बाद अगले चरण में भोपाल और प्रदेश बंद किया जाएगा। साथ ही मुख्यमंत्री निवास (Cm House) और स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के घर के बाहर सिंधी समाज धरना देगा जिसमे समाज की महिलाएँ भी शामिल होंगी। विरोध प्रदर्शन करने सड़को पर उतरने जा रहे सिंधी सेंट्रल पंचायत ने फिलहाल 03 सूत्रीय मांग सरकार के सामने रखी है जिसमे आरोपियों की गिरफ्तारी, फर्जी एफआईआर रद्द करने और मंत्री इंदर सिंह परमार और टी आई को हटाने की बात कही है।

बैठक में सिंधी सेंट्रल पंचायत भोपाल ने यह निर्णय भी लिया है कि 02 अगस्त के बाद अलग अलग चरणों मे विरोध जताया जाएगा और इस दौरान समाज के लोग काली पट्टी बांधकर काम करेगे, भोपाल मे आयोजित इस बैठक मे सिन्धी सेंट्रल पंचायत के अध्यक्ष भगवान दास ईसरानी सहित पदाधिकारी, संरक्षक,भारतीय सिंधु सभा के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार वाधवानी मौजूद रहे।