सिंधिया के साथ आने से इंकार करने वाले कांग्रेस नेताओं पर सरकार का शिकंजा

श्योपुर।

राज्यसभा सांसद और बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Rajya Sabha MP and BJP leader Jyotiraditya Scindia) के साथ भाजपा(bjp) में शामिल होने से इनकार करने वाले उनके नजदीकी खासमखास नेताओं पर सरकार ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। रामनिवास रावत(ramniwas rawat), जो कि मप्र कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष (Acting state president of MP Congress) होने के साथ ही कांग्रेस का धाकड़ चेहरा है, वे सिंधिया के बेहद खास थे बीजेपी सरकार की कार्यवाही की जद में रामनिवास रावत आये हैं। उनके गृह नगर विजयपुर में बेशकीमती जमीन को सरकारी घोषित कर दिया गया है।

जिले के कलेक्टर राकेश श्रीवास्तव ने भूदान की जमीन बताकर बड़ी तादाद में स्थित इस जमीन को सरकारी भूमि में दर्ज करने का आदेश जारी किया है। यह जमीन रामनिवास रावत की संस्था श्री गणेश शिक्षा संस्थान के नाम दर्ज थी। जमीन पर एक निजी कॉलेज और स्कूल की बिल्डिंग भी खड़ी है, जिसका संचालन रामनिवास रावत के पुत्र अनिरुद्ध रावत करते हैं। यही नहीं रामनिवास रावत के बेटे का श्योपुर शहर में एक पेट्रोल पंप भी बन रहा है। करीब 80 फिसदी तक कंप्लीट हो चुके पेट्रोल पंप के काम को भी प्रसासन द्वारा एनओसी निरस्त करके रोक दिया गया है।
हालांकि इतनी बड़ी कार्यवाही होने के बाद भी रामनिवास रावत का कोई बयान सामने नहीं आया है, लेकिन उनसे जुड़े समर्थक इसे बदले की भावना से की गई कार्यवाही बता रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here