Singrauli : नाबालिग भतीजी से दुष्कर्म करने वाले आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

सिंगरौली पुलिस अधीक्षक द्वारा फरार आरोपी पर 5 हज़ार का इनाम घोषित किए गया था। जिसके बाद शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के चोपन से आरोपी को गिरफ्तार किया है।

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। सिंगरौली (Singrauli) में बीते जून माह में रिश्तों को कलंकित करने वाला एक मामला सामने आया था। जहां बड़े पापा ने अपनी ही भतीजी को अपनी हवस का शिकार बनाया था। इस मामले में अब नाबालिग भतीजी के साथ दुराचार के आरोपी को मोरवा पुलिस (Morwa Police) ने गिरफ्तार कर लिया है। मोरवा पुलिस की टीम ने शुक्रवार तड़के आरोपी को उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) के सोनभद्र के चोपन से गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें…आरटीओ बैरियर पर ट्रक ड्राइवर की पिटाई, अधिकारी बोले डर कर भागने से टूटा पैर

शिकायत मिलने के बाद से ही पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह के दिशानिर्देश में अनुविभागीय अधिकारी राजीव पाठक के मार्गदर्शन पर मोरवा थाना प्रभारी निरीक्षक मनीष त्रिपाठी के द्वारा अलग-अलग टीम बनाकर आरोपी की तलाश की जाने लगी थी। पर आरोपी लगातार मोबाइल बंद कर भागता रहा। जिस कारण आरोपी पुलिस के हाथ से बचता जा रहा था। इसलिए उसकी गिरफ्तारी हेतु सिंगरौली पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र सिंह के द्वारा 5 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया था।

क्या था मामला
8 जुलाई को पंजरेह निवासी एक 13 वर्षीय बालिका अपने माता-पिता के साथ थाने आकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि जब वह अपने रिश्तेदार के यहां शादी में गई थी। तभी विदाई की रात रिश्ते के बड़े पापा ने उसके साथ सुने कमरे में ले जाकर ज्यादती की। पिता की तहरीर पर तत्काल थाना प्रभारी मोरवा के द्वारा अपराध क्रमांक 319/21 धारा 342, 376, 376(3) भादवि 3/4 पाक्सो कायम कर आरोपी की तलाश की जाने लगी थी। लेकिन आरोपी पुलिस से बचता रहा।

शुक्रवार को चोपन सोनभद्र उत्तर प्रदेश में आरोपी के होने की सूचना थाना प्रभारी- मनीष त्रिपाठी को मिली। जिस पर एक टीम रवाना कर 42 वर्षीय आरोपी राजकुमार कोल आरोपी को चोपन रेलवे स्टेशन से मुंबई-महाराष्ट्र भागने के पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। संपूर्ण कार्रवाई में मोरवा थाना प्रभारी मनीष त्रिपाठी के सतत निगरानी में उप निरीक्षक – सरनाम सिंह बघेल, विनय शुक्ला, रूपा अग्निहोत्री, प्रधान आरक्षक- संतोष सिंह, संजय सिंह परिहार, अर्जुन सिंह, आरक्षक सुबोध तोमर, साइबर सेल बैढ़न से उपनिरीक्षक जितेंद्र भदौरिया, आरक्षक दीपक परस्ते, कोतवाली बैढ़न से आरक्षक अभिमन्यु उपाध्याय शामिल थे।

यह भी पढ़ें…Morena : वन अमले पर रेत माफियाओं ने फिर की फायरिंग, ट्रॉली छोड़ भागे