संवेदनहीनता की पराकाष्ठा, CDS को देश देता रहा श्रद्धांजलि, यहाँ निकाली रैली

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार।  देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ (CDS) जनरल विपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत और और अन्यसैन्य अफसरों की तमिलनाडु के कुन्नूर में हैलीकाप्टर दुर्घटना में दिवंगत होने की खबर के बाद पूरा देश जहाँ शोक में डूब गया वहीं हर कोई अपने स्तर से उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करने लगा, लेकिन सिंगरौली में भाजपाई शोक सभा के बजाय आतिशबाजी व डीजे के साथ रैली निकाल युवा व किसान मोर्चा नव नियुक्ति का जश्न मनाने में लग कर संवेदनहीनता का परिचय देते रहे।

जिले के भाजपाइयों के इस कृत्य को देख लोग मौखिक व सोशल मीडिया पर तरह तरह की नाकारात्मक प्रतिक्रिया दे रहे हैं और कह रहे हैं कि यदि रक्षा प्रमुख के दिवंगत दिवस पर यदि विपक्षी दल ने धोखे से भी किसी प्रकार का जश्न मना लिया होता तो भाजपाई उन्हें गद्दार व देशद्रोही जैसे न जाने कितने आरोप लगाकर पुतला दहन कर चुके होते। इसके लिए जिला प्रशासन की अनुमति भी जरूरी नहीं समझते। देश भक्ति व देश के लिए समर्पण की बात करने वाली विश्व की सबसे बड़ी पार्टी के सिंगरौली पदाधिकारियों का नव नियुक्ति रैली निकालना कितना उचित है इसका संज्ञान भाजपा के प्रदेश नेतृत्व को लेना चाहिए,क्योंकि इनके इस कृत्य से जिला शर्मशार हुआ है।

ये भी पढ़ें – एक साल का लम्बा संघर्ष समाप्त, ख़त्म हुआ किसान आंदोलन, टिकैत ने कही ये बड़ी बात

गौरतलब है कि 8 दिसम्बर को तमिलनाडु के कुन्नूर में हैलीकाप्टर क्रैश हादसे में भारत के पहले CDS बिपिन रावत , उनकी पत्नी मधुलिका सहित 13 लोगों का निधन हो गया।  हादसे की खबर के बाद पूरा देश शोकाकुल हो गया और हर कोई शोक व्यक्त कर श्रद्धाजंलि अर्पित करता रहा , लेकिन इतने बड़े हादसे से जिले के भाजपा पदाधिकारी बेखबर हो, रक्षा प्रमुख और सैन्य अफसरों की मौत पर शोक सभा आयोजित करने के बजाय भाजपा युवा मोर्चा के नवनियुक्ति की  रैली निकालने में लगे रहे। अपने कार्यकाल को लेकर सुर्खियों में रहने वाले चर्चित भाजपा जिलाध्यक्ष वीरेंद्र गोयल हादसे अनजान बन बकायदे भाजपा युवा मोर्चा के नवागत अध्यक्ष राजेंद्र सिंह के जिप्सी पर सवार हो पूरे शहर में आतिशबाजी व वाहनों के काफिले के साथ रैली निकाल जश्न मनाते रहे।

ये भी पढ़ें – Transfer : मप्र में IAS अधिकारियों के तबादले, यहाँ देखें लिस्ट

क्षेत्र की जनता कर रही ट्रोल

सिंगरौली भाजपा के इस कृत्य को देख लोग अवाक रह गए और कहने लगे कि युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष की नियुक्ति रैली इतना महत्वपूर्ण थी कि देश के रक्षा प्रमुख के मौत के बाद भी स्थगित व निरस्त नहीं की गई । सोशल मीडिया पर ट्रोल करते हुए लोग कह रहे हैं कि सिंगरौली के भाजपाई संवेदनहीन हो गए हैं और इन्हें अपने जश्न के आगे किसी की भी मौत या शोक मायने नहीं रखता। यदि यह कार्य किसी विपक्षी ने किया होता तो उनके खिलाफ ना केवल प्रदर्शन हुआ तो बल्कि थानों में कई धाराओं के तहत मामले भी दर्ज हो गए होते।

ये भी पढ़ें – दिग्विजय सिंह की नक्सलियों से अपील, बुलेट से नहीं बैलेट से लड़े अपनी लड़ाई

देशहित व देश के लिए समपर्ण की बात केवल जुमला- अमित द्विवेदी

8 दिसम्बर को भाजपा द्वारा निकाले गए रैली पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी ने भाजपाइयों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि देशहित व देश के लिए समर्पित होने की बात करने वाले भाजपा के लोग कितना संवेदनशील है इसकी बानगी 8 दिसम्बर को देखने को मिला। श्री द्विवेदी ने कहा कि इन्हीं के सरकार में बने देश के पहले रक्षा प्रमुख बिपिन रावत के आकस्मिक निधन पर जहां शोक सभा करना चाहिए वहीं यह रैली निकाल रहे हैं। कांग्रेस पार्टी सिंगरौली भाजपा के इस कृत्य की घोर निंदा करती है और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष से रैली का संज्ञान लेकर कार्यवाही की मांग करती है।