मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर ताई सुमित्रा महाजन ने उठाई आपत्ति, क्या अटक जाएगा कार्य?

मध्य प्रदेश सरकार इंदौर (Indore) से भोपाल (Bhopal) के बीच मेट्रो रेलवे परियोजना (MP Metro Project) के लिए जल्द से जल्द हरी झंडी दिखाने की कोशिश में जुटी हुई है।

metro project

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश सरकार इंदौर (Indore) से भोपाल (Bhopal) के बीच मेट्रो रेलवे परियोजना (MP Metro Project) के लिए जल्द से जल्द हरी झंडी दिखाने की कोशिश में जुटी हुई है। लेकिन भाजपा की वरिष्ठ नेता पूर्व सांसद सुमित्रा महाजन ने अपनी आपत्ति दर्ज करवाई है। जिसके बाद अब ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि मेट्रो प्रोजेक्ट का काम अब बीच में ही अटक सकता है। दरअसल पूर्व सांसद सुमित्रा महाजन ने इंदौर के एक गांधी हॉल और राजवाड़ा के पासे मैट्रो एक गुज़ारने को लेकर आपत्ति जताई है। इसको लेकर अब विचार विमर्श किया जा रहा है।

वहीं इसके विषय में बात करने के लिए ADM निकुंज श्रीवास्तव भी सुमित्रा महाजन के घर उनसे मुलाकात कर इस विषय में चर्चा करने के लिए गए। ऐसे में उनका कहना है कि मेट्रो परियोजना में किसी भी तरह की कोई बदलाव करवाने पड़े तो उसे दिल्ली भेजना पड़ेगा। दरअसल, इंदौर में मेट्रो प्रोजेक्ट का काम काफी तेजी से किया जा रहा है। ऐसे में एमजी रोड से गुजरने वाले रास्ते को लेकर फ़िलहाल अभी चर्चा की जा रही है। क्योंकि एमजी रोड तक का रास्ता काफी ज्यादा ट्रैफिक से भरा हुआ रहता है।

Must Read : इंदौर के पीथमपुर में गार्ड की हत्या, इलाके में मचा हड़कंप

वहीं यहाँ पर कई दुकानें भी है ऐसे में इस रास्ते में से मेट्रो प्रॉजेक्ट को कैसे ले जाया जाए। इसको लेकर अभी काफी ज्यादा आपत्ति जताई जा रही है। दरअसल बीते देने सुमित्रा महाजन ने आपत्ति जताते हुए कहा कि अधिकारी इसे बना कर चले जाएंगे। लेकिन बाद में रहवासियों को जो समस्या उठानी पड़ेगी उसका क्या करेंगे। क्योंकि गांधी हाल राजवाड़ा और छतरियां इस शहर की ऐतिहासिक धरोहर है।

अगर यहाँ से मेट्रो गुज़रेगी तो इनकी नी पर भी असर पड़ेगा। वहीं रह वासियों को भी काफ़ी ज़्यादा समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। ताई द्वारा उठाई गई इस आपत्ति के बाद एमडी निकुंज श्रीवास्तव ने पूरे गांधी नगर व सुपर प्रायोरिटी कॉरिडोर का जायजा लिया। उसके बाद वह ताई से मिलने के लिए उनके घर गए। यहां उनके साथ अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। ऐसे में ताई ने इस प्रोजेक्ट पर दोबारा विचार करने की बात कही। साथ ही ऐतिहासिक धरोहर को ठेस पहुंचेगी उसको लेकर भी आपत्ति जताई।