सिंध नदी के किनारे बसे गांवों में पहुंचे प्रभारी मंत्री, बोले चिंता नहीं करना, सरकार आपके साथ है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्यप्रदेश के जल संसाधन एवं ग्वालियर के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट (tulsiram silawat) रविवार को ग्वालियर जिले के डबरा विकासखंड में सिंध नदी (sindh river) के किनारे बसे झंडा का डेरा सहित अन्य बाढ़ प्रभावित गांवों में पहुंचे। श्री सिलावट ने पूरी हमदर्दी के साथ बाढ़ प्रभावित परिवारों की दुःख-तकलीफ सुनीं, साथ ही सभी बाढ़ प्रभावित परिवारों को भरोसा भी दिलाया कि आप-सब चिंता न करें मकान, मवेशी, फसल व अनाज सहित बाढ़ से अन्य जो भी नुकसान हुए हैं उनकी भरपाई करने की सरकार पुरजोर कोशिश करेगी। प्रभारी मंत्री के साथ पूर्व मंत्री इमरती देवी भी मौजूद थी।

प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट को पता चला था कि डबरा विकास खण्ड की ग्राम पंचायत से जुड़े झंडा का डेरा, इमली का डेरा व बैजनाथ का डेरा इत्यादि मजरों ने सबसे ज्यादा बाढ़ का कहर झेला है। इसलिये जब स्थानीय नोन नदी पर बने रपटे पर पानी ओवर फ्लो होने की वजह से उनकी गाड़ी नहीं निकल पाई तब वे नहर के किनारे-किनारे बने कीचड़ भरे कठिन रास्ते से सफर तय कर इन बाढ़ प्रभावित गांवों के लोगों के बीच पहुंचे। मंत्री श्री सिलावट ने झंडा का डेरा में बाढ़ के कहर से धराशायी हुए कच्चे-पक्के मकान, खराब हो चुके अनाज और लोगों की सम्पत्ति को हुए नुकसान को घर-घर जाकर देखा और लोगों को ढांढस बंधाया।

सिंध नदी के किनारे बसे गांवों में पहुंचे प्रभारी मंत्री, बोले चिंता नहीं करना, सरकार आपके साथ है सिंध नदी के किनारे बसे गांवों में पहुंचे प्रभारी मंत्री, बोले चिंता नहीं करना, सरकार आपके साथ है

प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने दौरे पर साथ गए डबरा के तहसीलदार और जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को निर्देश दिए कि दो दिन के भीतर हर बाढ़ प्रभावित परिवार तक आधा क्विंटल राशन पहुंचाना सुनिश्चित करें। साथ ही सर्वे का काम युद्ध स्तर पर पूरा कर जिनके मकान पूरी तरह नष्ट हो गए हैं उन्हें राजस्व पुस्तक परिपत्र और मनरेगा के तहत एक लाख बीस हज़ार रुपये की आर्थिक सहायता दें। इसी तरह जिनके मवेशी बह गए हैं, अनाज नष्ट हुआ है और फसल खराब हुई है। इत्यादि नुकसान का भी जल्द से जल्द सर्वे पूर्ण कर अभियान बतौर राहत बांटें। श्री सिलावट ने गाँव की बिजली सप्लाई को जल्द से जल्द बहाल करने पर भी विशेष जोर दिया। गाँव में विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारियों द्वारा लाइन दुरस्त करने का काम शुरु कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें – गृह मंत्री बोले- बाढ़ग्रस्त इलाकों में हालात सामान्य, प्रशासन अलर्ट, काजू पर नाथ को घेरा

इस दौरान प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने बाढ़ प्रभावित लोगों को त्वरित राहत का भरोसा दिलाते हुए कहा आप सबको जल्द से जल्द आर्थिक राहत देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विशेष रूप से चिंतित हैं और प्रतिदिन इसकी समीक्षा कर रहे हैं। साथ ही केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी आप सबके लिए राहत सामग्री भेजी है।

ये भी पढ़ें – हवाई दौरे पर सिंधिया, बोले हालातों से निपटने के लिए 3 चरणों में चलाया जाएगा राहत कार्यक्रम

बाढ़ प्रभावित लोगों ने प्रभारी मंत्री को जानकारी दी कि बिजकपुर ग्राम पंचायत से जुड़े झंडा के डेरा के 49 मकानों सहित चारों मजरों में कुल 221 मकानों को नुकसान पहुंचा है। प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि जिनके मकान नष्ट हुए हैं सरकार उन सभी के नए घर बनवाएगी। इसके लिए हर प्रभावित परिवार को एक लाख बीस हज़ार रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी।

विशेष स्वास्थ्य शिविर लगाने के दिये निर्देश

प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बिजकपुर ग्राम पंचायत से जुड़े बाढ़ प्रभावित मजरों में विशेष स्वास्थ्य शिविर लगाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा शिविरों में चिकित्सक व पैरा मेडीकल स्टाफ पर्याप्त दवाओं के साथ पहुँचे।

ये भी पढ़ें  – बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लिए केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने रवाना की राहत सामग्री, बांटे चेक