भाजपा नेता को अपनी ही पार्टी की नेत्री से जान का खतरा

उज्जैन।
उज्जैन बीजेपी के मंडल अध्यक्ष लाखन सिंह ने भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व प्रदेश मंत्री श्रेष्ठा जोशी के खिलाफ पुलिस में कार्रवाई के लिए आवेदन दिया है। उज्जैन के आईजी को दिए आवेदन में लाखन ने पूर्व प्रदेश मंत्री श्रेष्ठा जोशी के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज करने की मांग की है।

दरअसल लाखन ने दलितों के संबंध में एक पोस्ट फेसबुक पर डाली थी जिसे लेकर भाजपा की महिला मोर्चे की तत्कालीन प्रदेश मंत्री श्रेष्ठा जोशी ने उन्हें मोबाइल पर अश्लील गालियां और जान से मारने की धमकी दी थी। इतना ही नहीं लाखन का आरोप है कि उनको फेसबुक पर पोस्टों के माध्यम से भी काफी प्रताड़ित किया गया। 31 जनवरी 2020 को श्रेष्ठा जोशी अपने साथियों के साथ लाखन के घर गई, उन्हें डराया और गालियां देकर मारपीट कर बयानों का फर्जी वीडियो बनाकर फेसबुक पर अपलोड कर दिया।

लाखन का यह भी आरोप है कि श्रेष्ठा उन्हें लगातार परेशान कर रही है और जान से मारने की धमकी तक दे रही है। लाखन ने पुलिस से दलित वर्ग का अपमान करने और खुद के साथ मारपीट में जान से मार देने की धमकी देने पर श्रेष्ठा के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की माग की है।

लंबे समय से संगठन में सक्रिय रही श्रेष्ठा

श्रेष्ठा जोशी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के समय से संगठन में सक्रिय रही हैं और वे विभिन्न् पदों पर रह चुकी हैं। कई प्रदेश व केंद्र स्तर के नेताओं से वे जुड़ी हैं, लेकिन इस ऑडियोकांड के कारण अब उनका राजनीतिक नुकसान तय माना जा रहा है। श्रेष्ठा को प्रदेश मंत्री पद से हटाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर उनके समर्थन में कुछ कार्यकर्ताओं ने अभियान चलाया था। इसमें कहा गया कि संगठन ने एकपक्षीय कार्रवाई की है।