नगरीय निकाय चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, जिलाध्यक्ष ने कमलनाथ को सौंपा इस्तीफा

ऐसी स्थिति में कांग्रेस जिलाध्यक्ष का अपने पद से इस्तीफा देकर पार्टी में गुटबाजी की बात कहना कई तरह के सवाल खड़े कर रहा है।

विदिशा, डेस्क रिपोर्ट। आगामी नगरीय निकाय चुनाव (urban body election) से पूर्व कांग्रेस (congress) को एक बड़ा झटका लगा है। दरअसल मध्य प्रदेश (madhya pardesh) के विदिशा (vidisha) जिले की कांग्रेस जिला अध्यक्ष कमल सिलाकारी (kamal silakaari) ने अपने पद से इस्तीफा (resign) दे दिया है। जानकारी के मुताबिक विदिशा जिले के जिला अध्यक्ष कमल सिलाकारी ने पीसीसी चीफ कमलनाथ को अपना इस्तीफा सौंपा है।

वहीं सूत्रों की माने तो आगामी चुनाव से पहले पार्टी के अंदर गुटबाजी तेज हो गई है। जिसको लेकर कई बार सिलाकारी ने खुलासा करने की कोशिश की। बावजूद इसके इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया। जिसके बाद पार्टी की गुटबाजी से तंग आकर उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दिया है।

Read More: MPPEB: आरक्षक भर्ती परीक्षा के लिए संशोधित रूल बुक जारी, ये हुए महत्वपूर्ण बदलाव

मध्य प्रदेश में आगामी नगरीय निकाय चुनाव को लेकर तैयारियां तेज है। दोनों दल लगातार चुनावी प्रक्रिया को लेकर बैठक कर रही है। इस बार जहां कांग्रेस के बड़े दावे हैं कि कार्यकर्ताओं नेताओं की सहमति से प्रत्याशियों का चयन किया जाएगा। वहीं कांग्रेस जिलाध्यक्ष का अपने पद से इस्तीफा देकर पार्टी में गुटबाजी की बात कहना कई तरह के सवाल खड़े कर रहा है।

अब ऐसी स्थिति में अप्रैल महीने में होने वाली नगरीय निकाय चुनाव और आगामी पंचायत चुनाव (panchayat election) के लिए कांग्रेस हाईकमान की क्या रणनीति होती है। गुटबाजी से निपटने के लिए पीसीसी चीफ कमलनाथ (kamalnath) किन बिंदुओं पर निर्णय लेते हैं। यह देखना दिलचस्प है।

Read More: देश में आज करेंगे किसान रेल रोको आंदोलन, रेलवे ने पंजाब, हरियाणा, UP और बंगाल में बढ़ाई फोर्स

हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब जिलाध्यक्ष ने गुटबाजी की बात कहकर पार्टी से इस्तीफा दिया है। आगामी पंचायत चुनाव से कुछ दिन पहले ही बीते दिनों कांग्रेस के कई पंचायत के सचिवों और कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here