विदिशा।ममता पांडे ।

सांची रोड पर पीलिया नाले के पास बगैर लाइसेंस के अवैध ढंग से चल रही तेजाब फैक्टरी पर गुरुवार शाम को अफसरों ने छापा मारा । छापे के दौरान फैक्टरी से हजारों लीटर अवैध एसिड बरामद हुआ। एसडीएम के आदेश पर फैक्टरी को को सील किया गया। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि यह फैक्टरी कई सालों से बिना लाइसेंस के चल रही थी और तेजाब बनाने के लिए जो गाइडलाइन तय किए गए हैं उसका भी उल्लंघन इस फैक्टरी में किया जा रहा था।

ड्रग इंस्पेक्टर संजीव जादौन ने बताया कि वरिष्ठ अफसरों के निर्देश पर गुरूवार को एसिड निर्माता और विक्रेताओं की जांच की थी। इस दौरान सांची रोड पीलिया नाले के पास स्टैंडर्ड बैटरी फर्म द्वारा बगैर लाइसेंस के एसिड का निर्माण करता हुआ पाया। सुरक्षा बैटरी के नाम से यहां एसिड का निर्माण चल रहा था। यहां एसिड फैक्टरी में सुरक्षा के इंतजाम नहीं पाए गए और एसिड का भंडारण बड़ी मात्रा में पाया गया। ड्रग इंस्पेक्टर संजीव जादौन ने बताया कि जांच के दौरान यह पाया गया कि विक्रय नियम 2014 के अनुसार 5 प्रतिशत से ज्यादा हाइड्रो क्लोरिक एसिड होने पर लाइसेंस की आवश्यकता होती है। यहां हाइड्रो क्लोरिक एसिड और सल्फ्यूरिक एसिड का निर्माण किया जा रहा था।

1971 से फर्म थी संचालित
नायब तहसीलदार प्रमोद उइके ने बताया कि स्टैंडर्ड केमिकल फर्म के संचालकों का कहना है कि यह फर्म 1971 से इसी ढंग से चल रही है। इस हिसाब से फैक्टरी 48 साल से अवैध ढंग से संचालित हो रही थी। बताया जा रहा है कि फर्म से सुरक्षा बैटरी का निर्माण हाे रहा था। इसके संचालक कमोदसिंह कुशवाह बताए जा रहे हैं। ड्रग इंस्पेक्टर संजीव जादौन ने बताया कि जांच के दौरान यह पाया गया कि यहां 1020 बॉक्स मिले। एक बॉक्स में अलग-अलग मात्रा की बॉटल पैक की गई हैं। तकरीबन एक बॉटल की मात्रा 2.5 लीटर है। यहां 15 हजार 300 लीटर एसिड का अवैध भंडारण था।ड्रग इंस्पेक्टर संजीव जादौन ने प्रकरण बनाकर न्यायालय एसडीएम में पेश कर दिया है