एसपी कार्यालय में घुसने की कोशिश कर रहे युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प

जबलपुर शहर इन दिनों पूरे प्रदेश में सुर्खियों में बना हुआ है। कोरोना काल में पहले निजी अस्पतालों की मनमानी और उसके बाद फिर जिले में लगातार बढ़ते अपराध को लेकर युवा कांग्रेस का प्रदर्शन जारी है।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) शहर इन दिनों पूरे प्रदेश में सुर्खियों में बना हुआ है। कोरोना काल में पहले निजी अस्पतालों की मनमानी और उसके बाद फिर जिले में लगातार बढ़ते अपराध को लेकर युवा कांग्रेस (Youth congress) का प्रदर्शन जारी है। युवा कांग्रेस ने आज जबलपुर शहर में बढ़ते हुए अपराधों को लेकर एसपी ऑफिस (SP Office) का घेराव करने की कोशिश की। जहां पुलिस ने उन्हें स्टेशन चौराहे के पास ही रोक लिया, इधर पुलिस के रोके जाने से नाराज युवक कांग्रेसियों ने धरना दे दिया। करीब आधे घंटे तक बीच सडक़ पर कांग्रेसियों ने धरना दिया, जिसको लेकर बाद में फिर पुलिस ने बलपूर्वक युवा कांग्रेसियों को उठाया और उनकी गिरफ्तारी की। इस दौरान पुलिस और युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर झड़प हुई।

युवक कांग्रेस जहां एसपी कार्यालय में घुसने की कोशिश कर रहे थे, वही पुलिस उन्हें रोकने में जुटी हुई थी। इस दौरान युवक कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष शांशक दुबे की पुलिस से तीखी बहस भी हुई। युवा कांग्रेस का आरोप है कि पुलिस ने उन पर गोली चलाने की बात भी कही है, जबकि वह अपराध के बिषय में एसपी से बात करना चाह रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें जबरन रोका। इतना ही नही पुलिस ने उन्हें गोली मारने तक कि धमकी दी। इधर पुलिस का कहना है कि युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बिना अनुमति के सडक़ को जाम किया और धरना दिया, जिसके चलते धारा 144 उल्लंघन में उन्हें गिरफ्तार किया है। दरअसल जबलपुर शहर में बीते एक माह के दौरान कई बड़े अपराध हुए हैं, कभी ऑटो चालक के साथ बेरहमी से अपराधियों का मारपीट करना तो कभी नाबालिक बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या करना इस तरह के कई और अन्य अपराधों को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एसपी कार्यालय का घेराव किया और एसपी मुर्दाबाद के जमकर नारे भी लगाए। जिसको लेकर पुलिस से कार्यकर्ताओं की झड़प हुई और बाद में फिर उन्हें गिरफ्तार किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here