दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों की वजह से दिल्ली की जनता के लिए चार बड़े फैसले लिए हैं। केजरीवाल ने कहा कोरोना के कारण लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है लेकिन मुझे उम्मीद है कि इस मुश्किल वक्त में हमारे द्वारा उठाए गए कि चार कदम लोगों के लिए काफी मददगार साबित होंगे। चलिए आपको बताते है क्या है वो चार बड़े फैसले।

यह भी पढ़ें… विस्टा सेल्स प्राइवेट लिमिटेड की सराहनीय पहल, प्रशासन के सहयोग से नदी की सफाई और गहरीकरण

1. जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उन्हें भी मुफ़्त राशन
कोरोना और लॉकडाउन के चलते गरीबों को चारों तरफ से मार झेलनी पड़ी है। उन्हें राहत देने के लिए, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उन्हें भी मुफ्त राशन दिया जाएगा। केजरीवाल ने कहा कि सरकार ने फैसला लिया है कि जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उन्हें मुफ्त में राशन दिया जाएगा आपको बता दें कि दिल्ली में से करीब 72 लाख परिवार है जिनके पास राशन कार्ड है और सरकार उन्हें राशन देती है ऐसे में इस महीने राशन उन्हें फ्री में दिया जाएगा वही जो लोग गरीबी के चलते राशन कार्ड नहीं बनवा पा रहे हैं उन्हें भी फ्री राशन देने का सरकार ने फैसला लिया है केजरीवाल ने कहा किसके लिए किसी भी तरह के कार्ड की जरूरत नहीं होगी और ना ही उन्हें इनकम का कोई दस्तावेज दिखाने की जरूरत होगी।

2. कोरोना से मौत पर परिजनों को 50 हजार का मुआवजा।
कोरोना की वजह से बहुत से परिवारों ने अपनों को खो दिया है। ऐसे कई परिवार हैं जहाँ से कमाने वाला सदस्य ही चला गया है तो ऐसे परिवार को कोरोना से हुई प्रत्येक मृत्यु पर परिजनों को 50 हज़ार रुपए मुआवज़ा दिल्ली सरकार देगी।

3. कमाने वाले सदस्य की मौत पर ₹ 2500 की पेंशन
ऐसे कई परिवार हैं जिनके यहां कमाने वालों की मौत हुई है और उनकी वजह से परिवार चलता था ऐसे परिवारों के लिए ₹2500 की हर महीने की पेंशन दिल्ली सरकार देगी । वही जहां पर महिला की मौत हुई है तो पति को पत्नी की मौत पर और पत्नी को पति की मौत पर पेंशन मिलेगी और जहां पर जिनकी शादी नहीं हुई है तो उनके माता-पिता को सरकार यह पेंशन देगी ।

4. अनाथ बच्चों को 25 साल की उम्र तक ₹ 2500 और शिक्षा मुफ्त
जिनके घर से कमाने वाला सदस्य गया है उन्हें हर महीने ढाई हज़ार रुपए पेंशन भी दी जाएगी। केजरीवाल ने कहा कि ऐसे बच्चे जिन्होंने कोरोना की वजह से अपने माता पिता को खो दिया, ऐसे सभी बच्चे अपने आप को अकेला और बेसहारा ना समझें, मैं हर वक्त उनके साथ खड़ा हूँ। उन्हें एकमुश्त मुआवज़े के अलावा 25 साल की उम्र तक ₹2,500 हर महीने हर बच्चे को दिए जाएंगे और उनकी शिक्षा मुफ़्त होगी।