कर्मचारियों-पेंशनरों के लिए अच्छी खबर, मिलेगा एक और भत्ता का लाभ, ये रहेंगे नियम, खाते में आएंगे 36000 सालाना

इस आदेश के बाद सेवानिवृत्त कर्मचारियों को ओपीडी में इलाज कराने के लिए एक महीने में तीन हजार और सालाना 36 हजार रुपये मिलेंगे।

government employees news
DEMO PIC

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। रेलवे के कर्मचारियों- पेंशनरों के लिए अच्छी खबर है। रेलवे ने सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है, इसके तहत सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों को ओपीडी भत्ते के साथ निशुल्क इलाज का भी लाभ मिलेगा। रेलवे बोर्ड के आदेश के तहत अब रिटायर कर्मचारियों को तीन हजार रुपये मासिक ओपीडी भत्‍ता मिलेगा और निशुल्क इलाज का लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़े..MP Board: 5वीं-8वीं छात्रों के लिए जरूरी खबर, नियमों में बदलाव, चुन सकेंगे भाषा, इस तरह मिलेगा लाभ

दरअसल, रेलवे के कर्मचारियों- रिटायर्ड कर्मचारियों द्वारा लंबे समय से मांग की जा रही थी कि ओपीडी में इलाज कराने का खर्च रेलवे द्वारा दिया जाना चाहिए, ताकी रिटायर होने के बाद रेलवे क्वार्टर छोड़कर जाने पर कर्मचारियों को यह सुविधा नजदीकी अस्पताल में मिल सके। नए साल से पहले रेलवे ने इस मांग को पूरा कर दिया है ।मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रेलवे ने सभी महाप्रबंधक को पत्र भेजा है, जिसमें सेवानिवृत रेलवे कर्मचारी या विधवा पेंशन लेने वाली महिला कर्मचारी जो रेलवे अस्पताल से ढ़ाई किमी दूर रहती हैं, उन्‍हें प्रत्येक माह 3000 रुपये ओपीडी भत्ता देने के निर्देश दिए गए है।

यह भी पढ़े…MPESB MPPEB: 305 पदों पर निकली है भर्ती, 15 नवंबर से पहले करें apply, जानें आयु पात्रता

इसके लिए पेंशनरों और रिटायर्ड कर्मचारियों को आवेदन करना होगा, इसके बाद रेलवे अस्पताल में ओपीडी में इलाज व दवा देने जैसी सुविधाएं बंद कर दी जाएंगी, केवल गंभीर बीमार होने पर ही रेलवे अस्पताल या प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कर निशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी।इस आदेश के बाद मुरादाबाद रेल मंडल के करीब 75 हजार से अधिक पेंशनरों को लाभ मिलेगा। इस आदेश के बाद सेवानिवृत्त कर्मचारियों को ओपीडी में इलाज कराने के लिए एक महीने में तीन हजार और सालाना 36 हजार रुपये मिलेंगे।