1 करोड़ कर्मचारियों को मिलने वाला है बढ़े हुए DA बोनस का लाभ! सैलरी में आएगा बड़ा उछाल

इस फैसले से  हर साल केंद्र सरकार के खजाने पर 9488.74 करोड़ का बोझ बढ़ेगा।डीए और डीआर की ये बढ़ोतरी 1 जुलाई से दिसंबर 2021 तक के लिए लागू होगी।

कर्मचारियों

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र की मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते और राहत में 3 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी कर दिवाली से पहले बड़ी सौगात दी है। 3 प्रतिशत वृद्धि के साथ अब केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (DA Hike) 28 फीसदी से बढ़कर 31 प्रतिशत हो गया है।इसका लाभ 1 करोड़ कर्मचारियों को मिलेगा। इसी के साथ केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में भी बंपर उछाल आएगा।संभावना जताई जा रही है कि इसका लाभ दिवाली से पहले कर्मचारियों को मिल सकता है।

यह भी पढ़े.. Cabinet Meeting: जल्द कैबिनेट में आएगा यह प्रस्ताव, सीएम शिवराज लेंगे अंतिम फैसला

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को 1 जुलाई 2021 से महंगाई भत्ता और पेंशनर को महंगाई राहत में 3% की बढ़ोतरी करके 31% किया गया है। इससे 47 लाख 14 हजार केंद्र सरकार के कर्मचारी और 68 लाख 62 हजार पेंशनर लाभान्वित होंगे।  इस फैसले से  हर साल केंद्र सरकार के खजाने पर 9488.74 करोड़ का बोझ बढ़ेगा।डीए और डीआर की ये बढ़ोतरी 1 जुलाई से दिसंबर 2021 तक के लिए लागू होगी।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों को मिलेगा बढ़े हुए DA के साथ बोनस, सैलरी में आएगा उछाल, देखें कैलकुलेशन

बता दे कि   सरकार साल में दो बार महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी करती है। सरकार हर छह महीने में महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी करती है। जनवरी 2020-21 में महंगाई भत्ता 4-4 परसेंट और जून 2020 में 3 परसेंट की बढ़ोतरी हुई थी। इन तीन उछालों में महंगाई भत्ता कुल 11 परसेंट बढ़ा है और 28% पर पहुंच गया।इसके बाद हाल ही में हुई जून 2021 के 3 परसेंट की बढ़ोतरी के बाद महंगाई भत्ता 31 परसेंट (17+4+3+4+3) पर पहुंच गया है।

इतनी हो सकती है वेतन में बढ़ोत्तरी

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि मूल वेतन 18 हजार रुपए है और 28 फीसदी महंगाई भत्ता के तौर पर 5040 रुपए मिल रहे हैं। अगर इस भत्ते में 3 फीसदी का इजाफा होता है तो 5580 रुपए मिलेंगे। मतलब ये कि कर्मचारियों के वेतन में 540 रुपए का इजाफा होगा।इसी तरह 36000 और 56000 हजार सैलरी वालों को भी लाभ मिलेगा। आप अपने मूल वेतन के आधार पर इसका कैल्कुलेशन कर सकते हैं। जितना ज्यादा मूल वेतन होगा, महंगाई भत्ता भी उसी हिसाब दिया जाएगा। यह उदाहरण के तौर पर कैलकुलेशन किया गया है, फाइनल गणित HRA समेत दूसरे और कई भत्ते जोड़ने के बाद ही आएगा और सैलरी में भी अंतर दिखेगा।