हजारों कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, मिलेगा पदोन्नति का लाभ, DoPT ने जारी किए आदेश

कार्मिक मंत्रालय ने 3 अहम सचिवालय सेवाओं से जुड़े 8,000 सरकारी कर्मचारियों को प्रमोशन दिया है। इन कर्मचारियों की पदोन्नति से संबंधित आदेश जारी कर दिया गया है।

employees news
DEMO PIC

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। केंद्र सरकार (Central Government) ने 8000 से अधिक कर्मचारियों को पदोन्नति का तोहफा दिया है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र प्रसाद सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि कार्मिक मंत्रालय ने 3 अहम सचिवालय सेवाओं से जुड़े 8,000 सरकारी कर्मचारियों को प्रमोशन दिया है। इन कर्मचारियों की पदोन्नति से संबंधित आदेश जारी कर दिया गया है।

यह भी पढ़े.. MP News: लापरवाही पर बड़ा एक्शन, पंचायत सचिव समेत 5 निलंबित, 15 की सेवा समाप्त

इस संंबंध में केंद्रीय सचिवालय (Central Secretariat) कैडर के कर्मचारियों के प्रमोशन को लेकर आदेश पारित किया है। इसमें तीन सचिवालय कैडर, केंद्रीय सचिवालय सेवा (CSS), केंद्रीय सचिवालय स्टेनोग्राफर सर्विस (CSSS) और केंद्रीय सचिवालय क्लर्किल सर्विस (CSCS) के कर्मचारी शामिल हैं। इस सामूहिक प्रमोशन में केंद्रीय सचिवालय सेवा से 4700, केंद्रीय सचिवालय स्टेनोग्राफर सर्विस से 2900 और क्लर्किल सर्विस से 389 कर्मचारियों का पद बढ़ेगा।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र प्रसाद सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि सरकारी कर्मचारी को उसकी उचित पदोन्नति के बिना सेवा से सेवानिवृत्ति प्राप्त करते हुए देखना निराशाजनक था।धन्यवाद पीएम नरेन्द्र मोदी जी इस तरह के निर्णय के लिए। #DoPT ने #CSS, #CSSS और #CSCS कैडर से 8,000 से अधिक केंद्र सरकार के कर्मचारियों को बड़े पैमाने पर पदोन्नति देने का आदेश दिया।

यह भी पढ़े..MPPSC 2019: इस परीक्षा को लेकर नई अपडेट, उम्मीदवारी निरस्त की सूचना जारी, 15 दिन में प्रस्तुत करें आपत्ति

केंद्र सरकार अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के सदस्यों को प्रमोशन में आरक्षण देने सहित 8,089 अधिकारियों को प्रमोट करने के लिए तैयार है। इस मामले से परिचित अधिकारियों ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। प्रमोशन में से कुल 1,734 पद प्रमोशन में आरक्षण के अंतर्गत नहीं आते हैं, जबकि 5,032 अनारक्षित हैं। सरकार ने एससी श्रेणी में 727 और एसटी श्रेणी में 207 प्रमोशन करने का फैसला किया है। 389 पदों के लिए विवरण प्राप्त नहीं हो सका।