कर्मचारियों को जल्द मिलेगी बड़ी खुशखबरी! 29000 तक बढ़ेगी सैलरी, जानिए अपडेट

नए साल में मोदी सरकार केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों का DA 3 प्रतिशत और बढ़ा सकती है, जिसके बाद डीए 31 फीसदी से बढ़कर कुल डीए 34% हो जाएगा और सैलरी में 20500 तक का इजाफा होगा। 

7th pay commission Fitment Factor

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।7th Pay Commission. नए साल 2022 में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों (central employees-pensioners) को नई सौगात मिलने की संभावना है।खबर है कि जनवरी 2022 में कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 3 प्रतिशत और बढ़ सकता है, इसका लाभ 1 करोड़ कर्मचारियों को मिलेगा और इससे सैलरी में 20484 रुपए  तक का उछाल आएगा। वही मोदी सरकार 3.68 फीसदी फिटमेंट फैक्टर भी बढ़ा सकती है, जिसके बाद सैलरी में 8,000 रुपये की बढ़ोतरी होगी। अगर नए साल में दोनों फैसलों पर मुहर लगती है तो करीब 29 हजार तक सैलरी मे इजाफा देखने को मिलेगा।वही अन्य भत्ते जुड़े तो यह लाभ और भी बढ़ सकता है।

यह भी पढ़े.. नए साल से पहले शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, इन 9 जिलों को मिलेगा लाभ

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 2021 की तरह नया साल 2022 भी केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए दो बड़े तोहफे लेकर आने वाला है। वर्तमान में AICPI सितंबर 2021 तक के आंकड़ों के अनुसार डीए 32.81 फीसदी है और अक्टूबर-नवंबर-दिसंबर की गणना के बाद यह 34% हो जाएगा। दूसरे शब्दों में समझें तो अगर दिसंबर 2021 तक CPI(IW) का आंकड़ा 125 तक रहता है तो DA 3% वृद्धि निश्चित है और इसका भुगतान जनवरी 2022 में किया जा सकता है, ऐसे में संभावना है कि  नए साल में मोदी सरकार (Modi Government) केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों का महंगाई भत्ता 3 प्रतिशत और बढ़ा सकती है, जिसके बाद डीए 31 फीसदी से बढ़कर कुल डीए 34% हो जाएगा और सैलरी में 20500 तक का इजाफा होगा।

यह भी पढ़े.. MP को जल्द मिलेगी नई फ्लाइट की सौगात, कैबिनेट मंत्री ने सिंधिया से की ये मांग

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 34 प्रतिशत DA होने पर 18,000 रुपए बेसिक सैलरी वाले कर्मचारियों का महंगाई भत्ता सालाना 6,480 रुपए और 56000 सैलरी वाले का सालाना DA 20,484 रुपए हो जाएगा। इससे करीब 1 करोड़ यानि 68 लाख कर्मचारी और 48 लाख पेंशनर्स को लाभ मिलेगा। वही 2022 में सरकार द्वारा फिटमेंट फैक्टर भी बढ़ाया जा सकता है।इससे पहले आखरी बार फिटमेंट फैक्टर (fitment factor) को 2016 में बढ़ाया गया था, जिसमें कर्मचारियों का न्यूनतम बेसिक वेतन 6,000 रुपये से बढ़कर 18,000 रुपये किया गया था। अब माना जा रहा है कि सरकार करीब 3.68 फीसदी फिटमेंट फैक्टर बढ़ाया जा सकता है, जिसके बाद 8,000 रुपये की बढ़ोतरी से कर्मचारियों का मूल वेतन बढ़कर 26,000 रुपये हो जाएगा।