खुशखबरी: होली से पहले कर्मचारियों को मिलेगी 2 बड़ी सौगात! भत्तों के साथ बढ़ेगी बंपर सैलरी, जानें ताजा अपडेट

फिटमेंट फैक्टर के कारण केन्द्रीय कर्मचारियों के वेतन में ढाई गुना से अधिक की वृद्धि होती है।वर्तमान में 7वें वेतन आयोग के तहत कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) 2.57 गुना है और बेसिक सैलरी 18000 है।

Central Employee Salary Hike 2023: नए साल में केन्द्रीय कर्मचारियों की सैलरी में एक बार फिर बड़ा उछाल देखने को मिल सकता है। होली से पहले कर्मचारियों के हाथ 2 बड़ी खुशखबरी आ सकती है। इसमें महंगाई भत्ता और फिटमेंट फैक्टर का उपहार शामिल है। ताजा मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो होली से पहले केन्द्र की मोदी सरकार केन्द्रीय कर्मचारियों का 2023 के लिए महंगाई भत्ता बढ़ा सकती है। वही फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाने को लेकर भी अहम निर्णय लिया जा सकता है। हालांकि अभी अधिकारिक पुष्टि होना बाकी है।

दरअसल, साल में दो बार केन्द्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों का महंगाई भत्ता और महंगाई राहत बढाया जाता है। डीए में यह वृद्धि प्रत्‍येक छह महीने में होती है और कितनी होनी है, यह AICPI इंडेक्स के आंकड़ों पर न‍िर्भर करता है, जो की लेबर म‍िन‍िस्‍ट्री की तरह से जारी किए जाते है। अबतक नवंबर तक के आंकड़े आ चुके है, जिसमें अंक 132.5 पर रहा है। ऐसे में संकेत मिल रहे है कि 2023 में 3% से 4% तक की डीए में फिर वृद्धि का ऐलान हो सकता है।इसका लाभ 50 लाख कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनधारकों को मिलेगा।

मार्च में हो सकता है ऐलान

वर्तमान में कर्मचारियों को 38 फीसदी डीए का लाभ मिल रहा है और अगर  डीए 3 से 4 फीसदी तक वृद्धि होती है, यह 41या 42 फीसदी हो सकता है।   हालांकि दिसंबर के आंकड़े आना बाकी है, दूसरी छमाही में AICPI इंडेक्स के नंबर्स से तय होगा कि जनवरी 2023 में कितना महंगाई भत्ता बढ़ेगा। इसकी घोषणा मार्च 2023 तक की जा सकती है वही इसे 1 जनवरी 2023 से लागू किया जा सकता है। माना जा रहा है कि अगर 4 फीसदी डीए बढता है तो बेसिक सैलरी में कुल ₹720 प्रति और अधिकतम सैलरी रेंज के कर्मचारियों के लिए ₹2276 प्रति महीने की दर से वृद्धि तय है।इसके अलावा अन्य भत्तों में भी इजाफा होगा।

फिटमेंट फैक्टर पर भी हो सकता है फैसला 

महंगाई भत्ते के अलावा  52 लाख केन्द्रीय कर्मचारियों को फिटमेंट फैक्टर की सौगात भी मिल सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बजट सत्र से पहले मोदी सरकार कर्मचारियों की बेसिक सैलरी बढ़ाने पर फैसला ले सकती है। आगामी चुनावों को देखते हुए 7वें वेतन आयोग के तहत कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 से बढ़ाकर 3.00 या फिर 3.68 फीसदी किया जा सकता है, अगर सहमति बनती है तो बेसिक सैलरी 18000 से बढ़कर 26000 हो जाएगी।वही अलग अलग लेवल के कर्मचारियों की सैलरी में अलग अलग वृद्धि होगी।  हालांकि अभी अधिकारिक पुष्टि होना बाकी है।

वेतन में होगी ढ़ाई गुना वृद्धि

दरअसल, इस फैक्टर के कारण ही केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में करीब ढाई गुना से अधिक की वृद्धि होती है। लंबे समय से केन्द्र के कर्मचारी फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाने की मांग कर रहे है, ताकी बेसिक सैलरी में इजाफा हो सके।  मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो संभावना है कि  केन्द्र सरकार इस साल फरवरी 2023 को पेश होने वाले बजट के बाद इस पर फैसला ले सकती है , हालांकि अभी तक इस संबंध में कोई आधिकारिक बयान या पुष्टि नहीं की गई है। इससे पहले सरकार ने 2016 में फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाया था और इसी साल से 7th pay commission को भी लागू किया गया था, जिसके बाद कर्मचारियों बेसिक सैलरी 6000 से बढ़कर 18,000 हो गई थी।

जानिए कितनी बढ़ेगी बेसिक सैलरी 

  • फिटमेंट फैक्टर के कारण केन्द्रीय कर्मचारियों के वेतन में ढाई गुना से अधिक की वृद्धि होती है।
  • वर्तमान में 7वें वेतन आयोग के तहत कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) 2.57 गुना है और बेसिक सैलरी 18000 है।
  • उदाहरण के तौर पर, यदि किसी केंद्रीय कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18,000 रुपए है, तो भत्तों को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57= 46,260 रुपए का लाभ होगा।
  • 3.68 होने पर सैलरी 95,680 रुपये (26000 X 3.68 = 95,680) हो जाएगी यानि सैलरी में 49,420 रुपए लाभ मिलेगा।3 गुना फिटमेंट फैक्टर होने पर सैलरी 21000 X 3 = 63,000 रुपये होगी।