मुकुल के बाद इन पूर्व विधायकों की घर वापसी होगी या नहीं, क्या होगा ममता बनर्जी का फैसला?

पूर्व विधायक

कोलकत्ता, डेस्क रिपोर्ट। विधानसभा चुनाव 2021 (west bengal assembly election 2021) के बाद पश्चिम बंगाल में एक बार फिर दल बदल का दौर चल पड़ा है। BJP के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय (Mukul Roy) के बाद कई नेताओं के टीएमसी में शामिल होने की चर्चाएं जोरों पर है। इसमें पूर्व विधायक प्रबीर घोषाल और पूर्व विधायक और फुटबॉलर दिपेंदु विश्वास प्रमुख नाम है, जिनके घर वापसी की अटकलें तेज है। सुत्रों के मुताबिक, पूर्व विधायकों ने भी टीएमसी में जाने की इच्छा जाहिर की, हालांकि अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।इधर शुक्रवार को ममता बनर्जी के दिए गए बयान ने भी नेताओं की टेंशन बढ़ा दी है। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या राय के बाद इन नेताओं की वापसी होती है या नहीं।

यह भी पढ़े.. मुकुल रॉय की वापसी पर बोली ममता बनर्जी- गद्दारों को पार्टी में वापस नहीं लेंगे

दरअसल, बीते दिनों पूर्व उपाध्यक्ष सोनाली गुहा (Sonali Guha) सोनाली गुहा ने ममता बनर्जी को पत्र लिखकर कहा  था कि जिस तरह मछली पानी से बाहर नहीं रह सकती, वैसे ही मैं आपके बिना नहीं रह पाऊंगी, दीदी।वही हाल ही में हुगली के उत्‍तरपाड़ा के पूर्व विधायक प्रबीर घोषाल (Prabir Ghoshal) बीजेपी के साथ अप्रसन्‍नता जाहिर करते हुए कहा था कि हाल ही में मेरी मां का देहांत हुआ है, सांसद कल्‍याण बंदोपाध्‍याय और विधायक कंचन मलिक ने मुझे कॉल किया था। यहां तक की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) ने भी शोक संदेश भेजा था, लेकिन बीजेपी के सिर्फ स्‍थानीय नेताओं ने ही शोक जताया है, इससे मैं थोड़ा निराश महसूस कर रहा हूं।

साथ ही पूर्व विधायक और फुटबॉलर दिपेंदु विश्वास (Dipendu Biswas) भी बीजेपी में शामिल होने के अपने फैसले पर ‘खेद’ व्यक्त कर चुके है। इनमें मुकुल रॉय और उनके बेटे का भी नाम शामिल था, जो शुक्रवार को ही ममता बनर्जी की मौजदूगी में दोबारा से टीएमसी में शामिल हो गए। उनके टीएमसी में घर वापसी के बाद से  चर्चाओं का बाजार गर्म हो चला है, हालांकि अभी तक कोई अधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है।वही मुकल रॉय ने भी कह चुके है कि जो हालात अभी भाजपा में हैं, उनमें वहां कोई नहीं रहेगा।

यह भी पढ़े.. Viral Audio : ज्योतिरादित्य सिंधिया का वार- मुझे आश्चर्य नहीं हुआ दिग्विजय सिंह जी

इन सब के बीच ममता बनर्जी का शुक्रवार को दिया गया बयान- “जिन लोगों ने गद्दारी की है उन्‍हें हम वापस पार्टी में नहीं लेंगे।”इन सभी नेताओं की वापसी में रोड़ा बन सकता है, हालांकि ममता बनर्जी की नजर में घोषाल गद्दार है या नहीं यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन मुकुल रॉय से टीएमसी में शामिल होने के बाद बीजेपी में खलबली मच गई है, चुनाव से पहले पार्टी छोड़ कर गए नेताओं में TMC के प्रति फिर प्रेम जाग गया है। अब देखना रोचक होगा कि टीएमसी का साथ छोड़ बीजेपी में शामिल होने वाले नेता कब, कैसे और कितने घर वापसी करते है।