चिराग पासवान को एक और बड़ा झटका, बंगला खाली करने का नोटिस

केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के संपदा निदेशालय ने राम विलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के नाम से दिल्‍ली में आवंटित बंगला (12, जनपथ) खाली करने का आदेश दिया है।

चिराग पासवान

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। पिता रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के निधन के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नेता चिराग पासवान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहे है। अब चिराग पासवान को एक और बड़ा झटका लगा है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के संपदा निदेशालय ने राम विलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के नाम से दिल्‍ली में आवंटित बंगला (12, जनपथ) खाली करने का आदेश दिया है।इसके लिए एक बार फिर नोटिस भी जारी किया गया है।

यह भी पढ़े.. मप्र विधानसभा : अनुपूरक बजट में रोजगार-कृषि पर विशेष फोकस, जानें किसको क्या मिला

वर्तमान में चिराग और उनकी मां इसी बंगले में रह रहे हैं, हालांकि बतौर सांसद चिराग (LJP Leader Chirag Paswan)  को भी एक बंगला पहले से आवंटित है।इस नोटिस के जवाब में चिराग ने 8 अक्टूबर तक का समय मांगा है, क्योंकि वे पिता के नाम से आवंटित बंगले को उनकी पहली पुण्‍यतिथि तक अपने पास रखना चाहते हैं।इस पर अभी तक निदेशालय ने फैसला नहीं लिया है।

दरअसल, हाल ही में मोदी कैबिनेट का मंत्रिमंडल विस्तार  (Modi Cabinet Expansion 2021) हुआ है, इसमें दर्जनों नए मंत्रियों को शामिल किया गया है, जिन्हें अभी तक बंगले आवंटित नही हुए है, ऐसे में कई मंत्रियों की नजर लुटियन्स जोन में बने इस बंगले पर है, जिसके चलते माना जा रहा है कि पासवान को और मोहलत ना देते हुए जल्द बंगला खाली करवाया जा सकता है।

यह भी पढ़े.. वरिष्ठ BJP नेता और पूर्व विधायक का निधन, पार्टी में शोक लहर

बता दे कि पिता के निधन के बाद से ही चिराग की मुश्किले बढ़ती ही जा रही है।पहले 5 सांसदों ने अलग गुट बनाया, फिर चिराग की चेतावनी के बाद भी मोदी कैबिनेट (Central Cabinet Expansion) में चाचा पशुपति पारस (Pashupati Paras) को शामिल किया गया और अंत में जब चिराग मामले को हाईकोर्ट में लेकर पहुंचे तो याचिका खारिज कर दी गई और अब बंगले खाली कराने का दोबारा से नोटिस जारी किया गया है।