Ration Card : राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी खबर, गाइडलाइन जारी, लाखों लोगों के कार्ड होंगे निरस्त, इन लाभार्थियों को CM देंगे तोहफा

Ration Card Guideline : राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी अपडेट सामने आई है। अगर आप भी राशन कार्ड का इस्तेमाल कर रहे है तो खबर आपके लिए हो सकती है। दरअसल सरकार द्वारा राशन कार्ड को लेकर नई गाइडलाइन जारी की गई है। जिसके तहत दस लाख से अधिक राशन कार्ड को रद्द किया जाएगा। नई गाइडलाइन के तहत अगर पिछले 1 साल से आपका राशन कार्ड इस्तेमाल नहीं हुआ है तो राशन कार्ड को निरस्त कर दिया जाएगा। सरकार द्वारा यह फैसला लिया जा रहा है।

राशन कार्ड वेरीफिकेशन की जिम्मेदारी

वहीं निरस्त हुए राशन कार्ड पर नए लोगों के राशन कार्ड तैयार किए जाएंगे। जिसका लाभ ने राशन कार्ड धारकों को दिया जाएगा। वही इस नियम के पालन के लिए खाद विभाग द्वारा जिला पूर्ति अधिकारियों को घर पर जा कर राशन कार्ड वेरीफिकेशन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके लिए सत्यापन की रिपोर्ट तैयार करने के बाद से राज्य सरकार को भेजी जाएगी। वहीं लंबे समय से इस्तेमाल नहीं हो रहे राशन कार्ड को रद्द कर दिया जाएगा।

राशन कार्ड को किया जाएगा निरस्त

जरूरी अपडेट के मुताबिक सरकार के पास 200000 से अधिक लोगों का डाटा पहुंचा है, जो ऐसे राशन कार्ड धारक हैं, जिन्होंने अपने राशन कार्ड का इस्तेमाल नहीं किया है और साल में सिर्फ एक या दो बार ही अपने राशन कार्ड से राशन का लाभ ले रहे हैं। ऐसे सभी राशन कार्ड धारकों के घर जा कर राशन न लेने की वजह पता की जाएगी। वही जवाब सही नहीं होने पर उनके राशन कार्ड को निरस्त किया जाएगा।

राजधानी दिल्ली में भी राशन कार्ड के सत्यापन की तैयारी पूरी की गई है। वहीं इसका मकसद राशन कार्ड धारकों को लाभ देने हैं, जो इसके पात्र हैं और जिन्हें राशन की आवश्यकता है। वही ऐसे राशन कार्ड धारक, जिन्होंने राशन का लाभ नहीं लिया है, उन्हें इस योजना के लिए अपात्र मान लिया जाएगा।

सीएम करेंगे 28 लाख से अधिक परिवारों को पीले राशन कार्ड का वितरण 

वहीं दूसरी तरफ हरियाणा सरकार द्वारा बड़ी तैयारी की जा रही है। सीएम मनोहर लाल खट्टर द्वारा सुशासन दिवस पर राज्य की जनता को बड़ा लाभ दिया जाएगा। सीएम डिजिटल माध्यम से 28 लाख से अधिक परिवारों को पीले राशन कार्ड वितरित किए जाएंगे जिसकी तैयारी पूरी कर ली गई।

दरअसल पीले राशन कार्ड बनाने के नाम पर भ्रष्टाचार की खबर सामने आ रही है। जिस पर अब इसको रोकने के लिए सीएम मनोहर लाल खट्टर द्वारा बड़े ऐलान किए गए हैं। वही अपात्र व्यक्तियों को पीले राशन कार्ड के लिए अधिकारियों के चक्कर नहीं लगाने होंगे।

इससे पहले बीपीएल सर्वे को रद्द करवाकर दोबारा सर्वेक्षण का काम करवाया गया था। वही बीपीएल परिवार के आंकड़े का मिलान खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता विभाग से किया गया। अभी पीले कार्ड के लिए पात्र व्यक्तियों की सालाना आय को भी 1 लाख 20 हजार से बढ़ाकर 1 लाख 80 हजार किया गया। जिसके बाद लाभार्थियों की संख्या 11 लाख से बढ़कर 28 लाख पहुंच गई है।