कोरोना से जिंदगी की जंग हारे भाजपा के पूर्व विधायक, पार्टी में शोक लहर

पूर्व विधायक मीणा जहाजपुर विधानसभा क्षेत्र (Jahazpur Assembly Constituency) से तीन बार विधायक रहे।

पूर्व विधायक

भीलवाड़ा, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में नेताओं पर कोरोना (Corona) का कहर जारी है, आए दिन अलग अलग राज्य से नेताओं के निधन की खबरें सामने आ रही है। अब राजस्थान (Rajasthan) के भीलवाड़ा जिले (Bhilwara district) के जहाजपुर विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक शिवजी राम मीणा (Former BJP MLA Shivji Ram Meena) का निधन (Passed away) हो गया है।पूर्व विधायक मीणा के निधन के निधन की खबर लगते ही बीजेपी में शोक की लहर दौड़ गई।

यह भी पढ़े.. MP College: UG और PG के छात्रों को बड़ी राहत, अब 31 मई तक भर सकते है परीक्षा फॉर्म

जानकारी के अनुसार,  पूर्व विधायक शिवजी राम मीणा बीते दिनों कोरोना की चपेट में आ गए थे, जिसके बाद  उन्हें भीलवाड़ा के महात्मा गांधी अस्पताल (Mahatma Gandhi Hospital) में भर्ती करवाया गया था, जहां आज सुबह इलाज के दौरान उनका निधन हो गया।मीणा का अंतिम संस्कार आज उनके पैतृक गांव अमरवासी में  किया गया।शिवजी राम मीणा के परिवार में उनकी पत्नी और दो पुत्र हैं।

यह भी पढ़े.. Petrol Price 2021: मध्य प्रदेश में पेट्र्रोल 102 रुपए के पार, जानें अपने शहर के दाम

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया (Former Chief Minister Vasundhara Raje Scindia) समेत कई दिग्गज नेताओं ने उनके निधन पर दुख जताया है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा है कि जहाजपुर विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री शिवजी राम मीणा के निधन का समाचार अत्यंत दुःखद है। उनका निधन क्षेत्रवासियों और समस्त भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है।

ऐसा रहा राजनीतिक सफर

  • पूर्व विधायक मीणा जहाजपुर विधानसभा क्षेत्र (Jahazpur Assembly Constituency) से तीन बार विधायक रहे।
  • दो बार पंचायत समिति प्रधान रहे।
  • बीजेपी से पहले कांग्रेस और जनता दल में भी रहे थे।
  •  खादी बोर्ड में बोर्ड में उप निदेशक रहे ।
  • 1990 जहाजपुर से पहली जनता दल से विधायक चुने गये।
  • कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे नाथूराम मिर्धा के काफी करीबी थे।
  • 1993 में वे कांग्रेस के टिकट पर जहाजपुर विधानसभा से क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतरे, लेकिन हार गये।
  • 199-94 के बीच बीजेपी का दामन थामा और 1995 में जहाजपुर के प्रधान चुने गये।
  • 2003 और 2008 वे बीजेपी के बैनर तले विधानसभा चुनाव में उतरे।
  • 2014 में वे दूसरी बार जहाजपुर पंचायत समिति के प्रधान बने।
  • 2 साल तक बीजेपी जिलाध्यक्ष भी रहे।

पूर्व विधायक