नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। ट्विटर (Twitter) और भारत सरकार (Indian Government) के बीच चल रहे विवाद के बीच ट्विटर (Twitter)  ने भारत के कानून एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद (Union Law and  IT Minister Ravi Shankar Prasad) का एकाउंट करीब एक घंटे तक ब्लॉक कर दिया, बाद में इसे अनब्लॉक कर दिया।  इसके पीछे ट्विटर (Twitter) ने कहा कि उसे अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट एक्ट (DMCA)  का उल्लंघन दिखाई दिया इसलिए उसने कानून का उल्लंघन वाले पोस्ट को हटा दिया है। गौतलब है कि भारत में किसी केंद्रीय मंत्री का ट्विटर एकाउंट ब्लॉक करने का ये पहला मामला है।

अमेरिकी सोशल नेट्वर्किंग कंपनी ट्विटर (Twitter) ने आज शनिवार को केंद्रीय कानून एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद (Union Law and  IT Minister Ravi Shankar Prasad) का ट्विटर एकाउंट करीब एक घंटे ये कहकर ब्लॉक कर दिया कि रवि शंकर प्रसाद की एक पोस्ट ने अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट एक्ट (DCMA) का उल्लंघन किया है। बताया जा रहा है कि ट्विटर  के इस कदम की वजह  रवि शंकर प्रसाद के एकाउंट में मौजूद ए आर रहमान  का गाना “मां तुझे सलाम” सोनी म्यूजिक कंपनी है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो DMCA नोटिस के आधार ट्विटर (Twitter) ने कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद के जिस ट्वीट पर एक्शन लिया है वो 2017 का है।  लुमेन डेटाबेस दस्तावेज के मुताबिक DMCA सम्बन्धी नोटिस 24 मई 2021 को भेजा गया और ट्विटर को ये 25 जून 2021 को मिला , बता दें कि लुमेन डेटाबेस एक स्वतंत्र अनुसंधान परियोजना है जिसके तहत ट्विटर द्वारा अपनी साइट पर रोक लगाने वाली सामग्री पर नजर रखता है।

ये भी पढ़ें – कांग्रेस की इस मांग को दिग्विजय सिंह ने बताया गलत, कही ये बड़ी बात 

जानकार सूत्रों की माने तो रवि शंकर प्रसाद ने ट्विटर एकाउंट की उक्त पोस्ट में 1971 के युद्ध की विजय की वर्षगांठ पर भारतीय सेना को श्रद्धांजलि देते हुए एक वीडियो डाला था, वीडियो के बाइक ग्राउंड में ए आर रहमान का गाना मां तुझे सलाम बज रहा था , इस गाने का कॉपीराइट सोनी म्यूजिक कंपनी के पास है। बताया जा रहा है कि सोनी म्यूजिक कंपनी ने इस गाने पर कॉपीराइट का दावा किया जिसे ट्विटर ने कॉपीराइट एक्ट का उल्लंघन समझ लिया।

ट्विटर के एक्शन के बाद केंद्रीय कानून एवं सुचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने इसकी कड़ी आलोचना की है। उन्होंने इसे ट्विटर का मनमाना रवैया और IT नियमों का घोर उल्लंघन बताया। उन्होंने ट्वीटकर इसकी जानकारी भी साझा की और ट्विटर के दोनों नोटिस शेयर किये।

 ये भी पढ़ें – BJP की तैयारी, कई प्रभारियों की हो सकती है छुट्टी, जल्द होगी मंत्रियों के जिला प्रभार की घोषणा

गौरतलब है कि भारत के किसी केंद्रीय मंत्री खाते को ट्विटर द्वारा ब्लॉक करने का ये पहला मामला है, हालाँकि ट्विटर ने एक घंटे बाद चेतावनी के साथ एकाउंट को फिर से अनब्लॉक कर दिया लेकिन इसकी सरकार के अन्य मंत्री भी तीखी आलोचना कर रहे हैं।केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्विटर के इस एक्शन पर आश्चर्य जताया है।

 ये भी पढ़ें – Damoh: राष्ट्रीय संत के जन्मदिन पर पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया की मौजूदगी में किया गया पौधारोपण