Lok Sabha Election 2024 : AAP सांसद संजय सिंह की मांग, एग्जिट पोल बंद होने चाहिए, चुनाव आयोग पर कसा तंज

संजय सिंह ने कहा कि निष्पक्ष चुनाव करवाना ही चुनाव आयोग की ज़िम्मेदारी है। उन्हें इसके लिए तनख़्वाह मिलती है। अगर चुनाव आयोग से कोई सवाल पूछता है तो उसका समाधान करें। चुनाव आयोग समाधान करवाने के लिए बैठा है या कवि सम्मेलन करने के लिए बैठा है। 

AAP MP Sanjay Singh

Lok Sabha Election 2024 : लोकसभा चुनाव के परिणाम से पहले आये एग्जिट पोल के नतीजों ने देश की सियासत को गरमा दिया है, इंडी गठबंधन के नेता एग्जिट पोल को मोदी का पोल, गोदी मीडिया का पोल कह रहे हैं, आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने तो एग्जिट पोल को बंद कर दिए जाने की मांग की है उन्होंने कहा कि ये जनता, प्रशासनिक तंत्र और चुनाव आयोग को प्रभावित करने का तरीक़ा है ये हास्यास्पद हैं, संजय सिंह ने चुनाव आयोग द्वारा  गठबंधन के नेताओं को झूठी अफवाहें ना फ़ैलाने पर कहा कि चुनाव आयोग को निष्पक्ष मतदान कराने के लिए तनख्वाह मिलती है कोई कवि सम्मेलन करने वे नहीं बैठे।

टीवी पर आया एग्जिट पोल फर्जी, इंडी गठबंधन का दावा उन्हें मिल रहीं 295 सीट 

जब से मीडिया ने एग्जिट पोल जारी किये हैं इंडी गठबंधन के नेताओं ने आक्रमण करने शुरू कर दिए हैं, निजी सर्वे एजेंसियों द्वारा टीवी चैनलों की मदद से तैयार किये गए एग्जिट पोल को मोदी का एग्जिट पोल और गोदी मीडिया का पोल बताकर विपक्षी नेता इस पर लगातार चर्चा कर फर्जी बता रहे हैं लेकिनअपने एग्जिट पोल 295 सीटों को पूरी तरह पारदर्शी और सही बता रहे हैं। दरअसल मीडिया द्वारा एग्जिट पोल में मोदी की तीसरी बार पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनते बताया जाना इंडी गठबंधन को रास नहीं आ रहा इसलिए वे एग्जिट पोल को फर्जी बता रहे हैं।

AAP सांसद संजय सिंह की मांग बंद होने चाहिए Exit Poll

एक कदम और आगे बढ़ाते हुए आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने भारत में एग्जिट पोल को बैन कर दिए जाने की मांग कर दी है, उन्होंने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि एग्जिट पोल बंद होने चाहिए, ये जनता, प्रशासनिक तंत्र और चुनाव आयोग को प्रभावित करने का तरीक़ा है। इनकी कोई जवाबदेही नहीं है। अगर एग्जिट पोल के आँकड़े नतीजों से मेल नहीं खाते हैं तो क्या ये देश से माफ़ी माँगेंगे, क्या इन पर कोई एक्शन होगा?

EXIT POLL मतगणना प्रक्रिया, चुनाव आयोग और जनता को क्यों भ्रमित करना चाहते हैं?     

संजय सिंह ने कहा- Exit Poll एक नहीं बल्कि कई बार गलत हुए हैं। हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भी यही हाल हुआ था। सभी Exit Poll ने वहां BJP को ज़्यादा सीटें दी थीं, जबकि वहाँ हुआ इसके बिल्कुल विपरीत। वहां कांग्रेस को 40 सीट मिली थीं और BJP को केवल 25 सीट ही मिली थीं। हमारा सवाल है, EXIT POLL मतगणना प्रक्रिया, चुनाव आयोग और जनता को क्यों भ्रमित करना चाहते हैं?

एग्जिट पोल हास्यास्पद हैं और विश्वासयोग्य नहीं हैं 

संजय सिंह ने कहा कि जहाँ जिस पार्टी की सीटें नहीं हैं वहां भी उस पार्टी को सीटें दिखाई जा रही हैं, राज्य की कुल सीटों से ज्यादा सीटें भाजपा को दी जा रही हैं ये हास्यास्पद है, उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि Exit Poll वाले हरियाणा में BJP को 10 में से 19 सीट दे रहे हैं। हिमाचल में 8 सीट दे रहे हैं। जेपी नड्डा से पूछिए कि Exit Poll उन्हें ये सीट कहाँ से दे रहा है?

चुनाव आयोग पर संजय सिंह ने कसा तंज 

चुनाव आयोग द्वारा विपक्ष द्वारा पोस्टल बैलेट की गिनती बाद में किये जाने और बड़ी संख्या में डीएम और आरओ को इन्फ्लुएंस किये जाने पर विपक्ष पर पलटवार कर व्यंग्यात्मक अंदाज में बात कहे जाने के सवाल पर संजय सिंह भड़क गए उन्होंने कहा कि निष्पक्ष चुनाव करवाना ही चुनाव आयोग की ज़िम्मेदारी है। उन्हें इसके लिए तनख़्वाह मिलती है। अगर चुनाव आयोग से कोई सवाल पूछता है तो उसका समाधान करें। चुनाव आयोग समाधान करवाने के लिए बैठा है या कवि सम्मेलन करने के लिए बैठा है।  उसकी जवाबदेही जनता और देश की राजनैतिक पार्टियों के प्रति भी है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....