7 जुलाई को हो सकता है मोदी कैबिनेट विस्तार, 17 से 22 मंत्री लेंगे शपथ!, इन नामों की चर्चा तेज

खबर मिल रही है कि आने वाले 3-4 दिनों में मोदी कैबिनेट (Modi Government) का विस्तार (Modi Cabinet Expansion 2021) हो सकता है।

मोदी कैबिनेट

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। बहुप्रतीक्षि मोदी कैबिनेट के विस्तार (Union Cabinet Expansion) का इंतजार खत्म होने वाला है। सुत्रों के हवाले  से खबर मिल रही है कि आने वाले 3-4 दिनों में मोदी कैबिनेट (Modi Government) का विस्तार (Modi Cabinet Expansion 2021) हो सकता है।इसमें 17-22 नए मंत्री शपथ ले सकते है।इसमें मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र ,यूपी, बिहार आदि राज्यों से आने वाले सांसदों के साथ कई पूर्व मुख्यमंत्रियों को भी मंत्रिमंडल में जगह मिलने की संभावना है।मोदी कैबिनेट में अभी 53 मंत्री शामिल हैं, यह संख्या बढ़कर 79 के आसपास हो सकती है।

यह भी पढ़े.. MP Weather :7 जुलाई के बाद फिर बदलेगा मौसम, मप्र के इन जिलों में आज बारिश के आसार

सुत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा संगठन महामंत्री बीएल संतोष के साथ मोदी कैबिनेट विस्तार पर बैठकें की हैं, जिसके बाद से अटकलें तेज हो गई है कि 3 दिन के अंदर अपनी कैबिनेट का विस्तार कर सकते हैं। कैबिनेट में अभी 28 मंत्री पद खाली हैं और बताया जा रहा है कि 17-22 सांसदों को मंत्री पद की शपथ दिलाई जा सकती है।संभावना जताई जा रही है कि मोदी कैबिनेट (Modi cabinet expansion 2021) में असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) शामिल किया जा सकता है।

वर्तमान में मोदी कैबिनेट (Modi Cabinet Expansion ) में मध्य प्रदेश के चार मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar), प्रह्लाद पटेल (Prahlad Patel), फग्गन सिंह कुलस्ते (Faggan Singh Kulaste) सहित थावरचंद गहलोत शामिल है,ऐसे में थावरचंद गहलोत अथवा फग्गन सिंह कुलस्ते में से किसी एक को ड्रॉप किया जा सकता है।वही मध्य प्रदेश से राकेश सिंह और कैलाश विजवर्गीय के नाम की भी चर्चा जोरों पर है।इसके अलावा बिहार से लोजपा से सांसद पशुपति कुमार पारस और JDU के आरसीपी सिंह, यूपी सेअपना दल की अनुप्रिया पटेल, वरुण गांधी, रामशंकर कठेरिया, अनिल जैन, रीता बहुगुणा जोशी, जफर इस्लाम के नामों की भी चर्चा है।

यह भी पढ़े.. Madhya Pradesh: प्रगति पर सरकार की ये योजना, लाखों स्कूलों-आँगनवाड़ियों को जल्द मिलेगा लाभ

वही दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी और महाराष्ट्र के बीड से सांसद प्रीतम मुंडे को भी मंत्री बनाया जा सकता है। इसी तरह उत्तराखंड से अनिल बलूनी या अजय टम्टा में से किसी एक को शामिल किया जा सकता है। पंजाब से दलित नेता केंद्र सरकार में राज्यमंत्री सोमनाथ को प्रमोशन मिल सकता है।पश्चिम बंगाल से निशीथ प्रामाणिक या दिलीप घोष, हिमाचल प्रदेश से मंत्रिमंडल में शामिल अनुराग ठाकुर को प्रमोट कर स्वतंत्र प्रभार दिया जा सकता है।वही  प्रकाश जावड़ेकर, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, नितिन गडकरी, हर्षवर्धन, नरेंद्र सिंह तोमर, रविशंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी और हरदीप सिंह पुरी अतिरिक्त मंत्रालय भी छोड़ सकते हैं।

गौरतलब है कि  मोदी कैबिनेट (Modi Cabinet 2021) में अभी 53 मंत्री हैं। इसमें  2 केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान और सुरेश अंगड़ी का निधन हो चुका है, जबकि 2 कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल और अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। मई 2019 में जब से मोदी 2.0 सरकार का गठन हुआ है, तब से एक बार भी मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हुआ।वर्तमान में कई मंत्री एक से ज्यादा विभाग संभाल रहे है। इसके अलावा आने वाले दिनों में यूपी-पंजाब समेत कई राज्यों में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) होने है, ऐसे में मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेज हो गई है।माना जा रहा है कि मानसून सत्र के पहले कई राज्यों के नेताओं को मंत्रिमंडल का विस्तार कर कैबिनेट मे शामिल किया जा सकता है।

यह भी पढ़े.. Job Alert 2021: मध्य प्रदेश में इन पदों पर निकली है भर्ती, इतनी मिलेगी सैलरी