नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक को उखाड़ा, मालगाड़ी की 20 बोगियां पटरी से उतरी, बड़ा हादसा टला

रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त होने और सिंगल लाइन होने की वजह से किरंदुल से जगदलपुर तक ट्रेन की आवाजाही बंद हो गई है।

नक्सलियों

दंतेवाड़ा, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से सटे राज्य छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में शुक्रवार देर रात नक्सलियों (Chhattisgarh Naxalites) ने रेलवे ट्रैक को उखाड़ दिया । इस दौरान किरंदुल स्थित नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कारपोरेशन ( एनएमडीसी) की खदान से लौह अयस्क लेकर विशाखापट्टनम जा रही मालगाड़ी पटरी से उतर गई। इसके बाद किरंदुल-जगदलपुर रूट को बंद कर दिया गया और आज 27 नवंबर 2021 को गढ़चिरौली मुठभेड़ के विरोध में भारत बंद का ऐलान किया गया है।

यह भी पढ़े.. अनिल कपूर ने दिया फैंस को शॉक, वीडियो शेयर कर लिखा आज ट्रीटमेंट का अंतिम दिन

घटना दंतेवाड़ा के भांसी व कामालूर स्टेशनों के बीच बासनपुर गांव के निकट की है। यहां शुक्रवार देर रात बस्तर संभाग में नक्सलियों ने बड़ा उत्पात मचाया।माओवादियों की भैरमगढ़ एरिया कमेटी के नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के भांसी रेलवे स्टेशन (Dantewada Railway Station) पर रेल पटरी की फिश प्लेट निकाल दी, जिसके वजह से किरंदुल से विशाखापट्टनम की ओर लौह अयस्क लेकर जा रही मालगाड़ी (freight train derail) की इंजन समेत 20 बोगियां से उतर गई।

गनिमत रही कि कोई हताहत नहीं हुई और बड़ा हादसा होते हुए टल गया।इससे किरंदुल कोत्तावालसा (केके) रेलमार्ग (Kirandul Kottavalsa (KK) Railroad) पर रेल यातायात ठप पड़ गया है। रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त होने और सिंगल लाइन होने की वजह से किरंदुल से जगदलपुर तक ट्रेन की आवाजाही बंद हो गई है। हालांकि जगदलपुर-विशाखापट्टनम मार्ग चालू है। घटना की जानकारी लगने के बाद रेल अधिकारियों ने मोर्चा संभाल लिया है और रेल मार्ग को क्लियर करवाने का कार्य जारी है।

यह भी पढ़े.. इन कर्मचारियों को नए साल का तोहफा, महंगाई भत्ता 11% बढ़ा, वेतन वृद्धि का भी लाभ

बता दे कि आज 27 नवंबर 2021 को गढ़चिरौली में मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की याद में भारत बंद का आव्हान किया गया है। इसी को सफल बनाने के लिए नक्सलियों एक दिन पहले इस तरह की घटना को अंजाम दिया।मौके पर जगह जगह नक्सल पर्चे भी फेंके गए हैं और कई जगह बैनर भी बांधे।