SAHARA: एजेंट और निवेशकों में गुस्सा, प्रदर्शन की तैयारी, मुकदमा हो सकता है दर्ज

अब सहारा के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाने का संकल्प लेकर सभी एजेंट साथी अपने प्रदेशो में लोगों को जोड़कर सहारा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करेंगे।

Sahara India

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। सहारा इंडिया (Sahara India) की मुश्किलें दिनों दिन बढ़ती जा रही है। एमपी के साथ साथ यूपी-छत्तीसगढ़ और अन्य राज्यों में भी निवशकों का भुगतान ना करने पर दबाव बढ़ रहा है औ जगह जगह एफआईआर दर्ज करवाई जा रही है।एक तरफ सोमवार को छत्तीसगढ़ के रायपुर में जनता कांग्रेस पार्टी द्वारा सीएम हाउस का घेराव किया गया वही लखनऊ में  पूरे देश के एजेंट और निवेशको ने सहारा के विरुद्ध प्रदर्शन किया है।अब आने वाले समय में देशभर में बड़े आंदोलन की तैयारी में है।

यह भी पढ़े.. MP: शिक्षक-पटवारी समेत 12 निलंबित, 18 कर्मचारियों को नोटिस, 43 का वेतन काटा, 1 पर जुर्माना

दरअसल, पूरे देश में सहारा इंडिया का भुगतान नहीं करने का मुद्दा तूल पकड़ने लगा है वर्तमान में सहारा इंडिया पूरे देश में कही भी भुगतान नहीं कर रही है कई लोगों को उनके बच्चों की शादी के लिये भी भुगतान नहीं मिल पा रहा है भुगतान नहीं हो पाने के कारण एजेंटो पर अत्यधिक दबाब है।  इसके खिलाफ विगत 13 नवंबर से सहारा इंडिया के खिलाफ इको गार्डन कासीराम जी पार्क में सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अजय टंडन आमरण अनशन कर है। वही 22 नवंबर को ऑल इंडिया न्याय संघर्ष मोर्चा का गठन किया गया है जिसमे अजय टंडन को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है बस्ती से सहारा इंडिया के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन करने वाले अभय देव शुक्ल को अध्य्क्ष बनाया गया है।

वही सहारा के निवेशकों (Sahara India Investors) की भुगतान से जुडी हुई परेशानियों को आगे लाने बाले यूट्यूब चैनल (You Tube) पर अपनी बात रखने वाले नीरज शर्मा को भी देश में सहारा के खिलाफ भुगतान से जुडी आबाज को निवेशको के हित में रखने वाले नीरज शर्मा को आल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है। ऑल इंडिया न्याय संघर्ष मोर्चा ने लखनऊ के प्रदर्शन में मप्र (Madhya Pradesh) के शिवपुरी, करेरा, ग्वालियर, कैलारस ,मंदसौर झाँसी , कानपुर, बस्ती, बागपत ,बलिया, उन्नाव, राजस्थान, बिहार सहित कई राज्यों के एजेंट साथियों ने एक देश भर में एक संगठन खड़ा किया है और कई राज्यों के अध्यक्षों की घोषणा कर पूरा देश में बढ़ाने की लोकल स्तर पर जरूरत है ।

यह भी पढ़े.. मप्र पंचायत चुनाव: आयुक्त ने कलेक्टरों को दिए ये निर्देश, 25 नवंबर तक भेजें जानकारी

ऑल इंडिया न्याय संघर्ष मोर्चा का कहना है कि सहारा के खिलाफ प्रदर्शन में आगे एक और बढ़ा प्रदर्शन किया जायेगा और सभी कार्यकारणी के लोग एजेंटो के साथ मिलकर पूरे देश में जाकर इस लड़ाई को आगे बढ़ेगी। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा गया है। भुगतान की मांग के लिए अब सहारा के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाने का संकल्प लेकर सभी एजेंट साथी अपने प्रदेशो में लोगों को जोड़कर सहारा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करेंगे और भुगतान की मांग करेंगे।