वरिष्ठ BJP नेता और पूर्व विधायक का निधन, पार्टी में शोक लहर

राठिया रायगढ़ के धरमजयगढ़ से दो बार विधायक रहे थे। वे छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की भाजपा सरकार में संसदीय सचिव भी रहे।

bjp

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। वरिष्ठ बीजेपी नेता (BJP Leader) और पूर्व विधायक ओमप्रकाश राठिया (Omprakash Rathia) का निधन हो गया है। राठिया पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे। 26 दिसंबर को रायगढ़ (Raigad) के कोविड अस्पताल (Covid Hospital) में भर्ती कराया गया था, जहां कोरोना टेस्ट (Corona Test) में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर एक दिन पहले ही उन्हें रायपुर एम्स (Raipur AIIMS) में शिफ्ट किया गया था, जहां गुरुवार को उनका निधन हो गया है।

यह भी पढ़े… BJP में जाने के बाद ऐसा मनेगा सिंधिया का BIRTHDAY, जाने क्या क्या होगा खास 

ओम प्रकाश राठिया पहली बार 2003 और फिर 2008 में विधायक चुने गए थे। धरमजयगढ़ में 25 सालों से कांग्रेस (Congress) के ही विधायक थे। उन्होंने कांग्रेस का वर्चस्व तोड़ भाजपा का खाता खोला था। दोनों ही बार उन्होंने कांग्रेस के कद्दावर नेता चनेशराम राठिया को शिकस्त दी थी। बाद में चनेशराम राठिया के बेटे लालजीत राठिया ने ही उन्हें हराया, अभी वहां लालजीत राठिया विधायक हैं।

वे छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की भाजपा सरकार में संसदीय सचिव भी रहे। वह ऐसे आदिवासी नेता (Tribal Leader) थे जो बिना किसी लाग-लपेट के अपनी बात सीधे तौर पर कहते थे। परिवार में बेटा और दो बेटियां हैं। भाजपा ने पिछली बार उनकी बहू लीनव को टिकट दिया था, लेकिन वह हार गई थीं। बेटा भी उनका राजनीति (Politics) में है।