शिक्षकों-कर्मचारियों को नए साल का तोहफा, पे-स्केल तथा संशोधित पेंशन परिलाभ को स्वीकृति, वेतन में होगा इजाफा

गहलोत द्वारा पूर्व में भी संस्कृत महाविद्यालय के शिक्षकों को सातवां वेतनमान एवं पे-बैण्ड- iv स्वीकृत किया जा चुका है।

Teacher Employee news: नए साल से पहले राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने कर्मचारियों और शिक्षकों को बड़ा तोहफा दिया है।राज्य सरकार ने संस्कृत महाविद्यालयों के सेवानिवृत्त और सेवारत शिक्षकों को बड़ा तोहफा दिया है। इनके पेंशन एवं नियमित वेतन परिलाभ को स्वीकृत दे दी है। इसका लाभ नए साल से सैलरी में दिखाई देगा।

 

सीएम अशोक गहलोत ने संस्कृत महाविद्यालयों के कार्यरत एवं सेवानिवृत्त शिक्षकों को नये वर्ष की सौगात देते हुए उन्हें नियमानुसार पे-स्केल तथा संशोधित पेंशन परिलाभ दिये जाने की स्वीकृति प्रदान की है।संस्कृत महाविद्यालयों के सेवानिवृत्त एवं कार्यरत शिक्षकों ने इस संवेदनशील निर्णय के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया है। गहलोत द्वारा पूर्व में भी संस्कृत महाविद्यालय के शिक्षकों को सातवां वेतनमान एवं पे-बैण्ड- iv स्वीकृत किया जा चुका है।

बता दे कि संस्कृत महाविद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के वेतन परिलाभों को वर्ष 2017 में रोक दिया गया था। इसी प्रकार सेवानिवृत्त शिक्षकों को भी वर्ष 2017 में पेंशन परिलाभों से वंचित कर दिया गया था। इस कारण वर्ष 2017 के बाद सेवानिवृत्त हुए संस्कुत महाविद्यालयों के व्याख्याता, प्रोफेसर एवं प्राचार्यों को प्रोविजनल पेंशन मिल रही थी।