TMC सांसद महुआ मोइत्रा का पीएम मोदी पर तंज, थोड़ा आप भी इंतजार कर लीजिये कभी कभी

PM MODI
PM MODI

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। चक्रवती तूफान यास (Cyclone Yass) से हुई तबाही का जायजा लेने बंगाल पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की  बैठक में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के 30 मिनट देरी से पहुँचने और फिर थोड़ी देर बाद वापस चले जाने को लेकर TMC सांसद महुआ मोइत्रा (TMC MP Mahua Moitra) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर ट्वीट कर तंज कसा है। TMC सांसद महुआ मोइत्रा (TMC MP Mahua Moitra) ने लिखा – भारत के लोग 7 साल से 15 लाख का इंतजार कर रहे हैं, थोड़ा वेट आप भी कर लीजिये कभी कभी। उधर गृह मंत्री अमित शाह (HM Amit Shah) ने ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के व्यवहार को अहंकारी कहा है। वहीं मुख्य सचिव को केंद्र सरकार बुलाने पर कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।

पीएम मोदी को आधा घंटे कराने के बाद बैठक में पहुंची पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पीएम को एक रिपोर्ट सौंपकर और रहत राशि की मांग कर बीच बैठक से वापस आने को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। ममता बनर्जी के इस व्यवहार की आलोचना होने के बाद उनकी पार्टी  TMC की लोकसभा सांसद महुआ मोइत्रा ममता बनर्जी के समर्थन में आ गई है।  उन्होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया –    30 मिनट की देरी पर इतना हंगामा ? भारत के लोग 7 साल से 15 लाख के लिए इंतजार कर रहे हैं।  घंटों ATM के आगे लाइन में इंतजार कर रहे हैं वैक्सीन के लिए महीनों इंतजार कर रहे हैं।  थोड़ा आप बह इंतजार कर लीजिये कभी कभी।

ये भी पढ़ें – इंदौर: स्थिति नियंत्रण में, कोरोना के बाद ब्लैक फंगस के 15 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज

उधर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पीएम मोदी और उनकी की बैठक के प्रति व्यवहार प् रग्रह मंत्री अमित शाह ने कड़ा एतराज जताया है उन्होंने शुक्रवार को ट्वीट किया – ममता दीदी का आचरण दुर्भाग्यपूर्ण है।  चक्रवात यास ने कई लोगों को प्रभावित किया है और प्रभावित लोगों की मदद अकारण समय की मांग है लेकिन दुःख इस बात का है कि दीदी ने अहंकार को  जनकल्याण से ऊपर रखा है उनका आज का व्यवहार यही दर्शाता है।

उधर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ ही बैठक में 30 मिनट देरी से पहुंचे पश्चिन बंगाल के मुख्य सचिन अलपन बंदोपाध्याय को केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली बुला लेने पर भी बवाल शुरू हो गया है।  अलपन बंदोपाध्याय का कार्यकाल ख़त्म हो गया है लेकिन कुछ दिन पहले ही ममता बनर्जी ने उनका कार्यकाल तीन महीने के लिए बढ़ा दिया था।  केंद्र सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस ने निशाना साधा है।

ये भी पढ़े – ज्योतिरादित्य सिंधिया हुए लापता! बोले कांग्रेस विधायक – कहां तुम चले गए

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट करते हुए लिखा – क्या आजादी के 74 साल में किसी मुख्य सचिव को  सहमति के अनिवार्य रूप से सेवानिवृत्ति के दो दिन पहले दिल्ली बुलाया गया है?