UP Weather: सुपर चक्रवात ‘नोरु‘ का दिखेगा असर, 2 दिन बाद बदलेगा मौसम, इन जिलों में बारिश के आसार, जानें विभाग का पूर्वानुमान

बंगाल की खाड़ी में बन रहे कम दबाव के क्षेत्र के कारण 2 दिन बाद फिर बारिश के आसार हैं। लखनऊ, वाराणसी और गोरखपुर में 4 और 5 अक्टूबर को तो नोएडा और गाजियाबाद 6 और 7 अक्टूबर को छिटपुट बारिश की संभावना हैं।

mp weather update

लखनऊ, डेस्क रिपोर्ट।  अक्टूबर महीने के शुरू होने के बावजूद सुपर चक्रवात ‘नोरु’ के कारण मानसून देश के कई राज्यों से मानसून की विदाई नहीं हुई है और हल्की से मध्यम तो कहीं तेज बारिश हो रही है। यूपी मौसम विभाग (UP Meteorological Department) की मानें तो आज से मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में 5 अक्टूबर तक बारिश होने की संभावना है। आगामी 4 से 5 अक्टूबर के दौरान राज्य में मध्यम से भारी बारिश का पूर्वानुमान है।

यह भी पढ़े..सरकारी कर्मचारियों-अधिकारियों के लिए बड़ी खबर, राज्य सरकार ने जारी किया ये आदेश, 2 अक्टूबर से लागू, करना होगा पालन

यूपी मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में बन रहे कम दबाव के क्षेत्र के कारण 2 दिन बाद फिर बारिश के आसार हैं। लखनऊ, वाराणसी और गोरखपुर में 4 और 5 अक्टूबर को तो नोएडा और गाजियाबाद 6 और 7 अक्टूबर को छिटपुट बारिश की संभावना हैं।  राजधानी लखनऊ में आज  न्यूनतम तापमान 24 डिग्री और अधिकतम तापमान 35 डिग्री रहेगा,लखनऊ में आज हल्के बादल रह सकते हैं लेकिन अधिकतर आसमान साफ रहेगा।वही मेरठ के आसपास जिलों, बिजनौर और मुजफ्फरनगर में इन दिनों हल्‍का कोहरा नजर आ रहा है।

यूपी मौसम विभाग के अनुसार, तीन से पांच दिनों में आगरा से मानसून वापस हो जाएगा।वाराणसी में पूरे सप्‍ताह बादलों की आवाजाही और बूंदाबांदी होने की संभावना है। वहीं दूसरी ओर चार अक्‍टूबर को घने बादलों के संकेत मौसम विभाग ने दिए हैं।दिवाली के बाद हल्की ठंडी उत्तर प्रदेश में महसूस होने लगेगी। 15 से 20 नवंबर के बाद गुलाबी ठंडी पड़ने लगेगी। ग्रामीण इलाकों में 20 नवंबर के बाद हल्का कोहरा भी पड़ने लगेंगे।वही हवाओं के रुख के चलते वाराणसी व पूर्वांचल में  बारिश भी होगी।

यह भी पढ़े..CG Weather : 2 दिन बाद फिर बदलेगा मौसम, कई जिलों में बारिश-बिजली चमकने की संभावना, जानें क्या कहता है मौसम विभाग

यूपी मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के ऊपर पूर्वोत्तर दिशा में बने चक्रवाती परिसंचरण के मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की तरफ बढ़ने से गंगा के मैदानी क्षेत्र में अच्छी बरसात होगी।जम्मू व पश्चिमी पाकिस्तान से लेकर गुजरात व राजस्थान तक लौटते मानसून की एक रेखा बन चुकी है।बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य में एक निम्न वायुदाब क्षेत्र और एक चक्रवाती हवा का क्षेत्र 10 हजार से 18 हजार फीट की ऊंचाई पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी बना हुआ है, ऐसे में 5 अक्टूबर से 8 अक्टूबर तक बारिश के आसार बनेंगे।