Gyanvapi Masjid Case : दोनों पक्षों को मिलेगी वीडियो फोटो, सुनवाई 4 जुलाई तक टली

वाराणसी, डेस्क रिपोर्ट। ज्ञानवापी मस्जिद मामले (Gyanvapi Masjid Case) में आज सोमवार को वाराणसी की दो अदालतों में सुनवाई हुई। जिला जज की अदालत और सिविल जज की फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट में दो अलग अलग मामलों पर सुनवाई हुई।  सुनवाई के बाद मामला गर्मी की छुट्टी के बाद के लिए 4 जुलाई तक के लिए टाल दी गई।

मामले की सुनवाई के बाद कोर्ट ने निर्देश दिए कि दोनों पक्षों को सर्वे के वीडियो और फोटो दी जाएंगी। अदालत ने दोनों पक्षों से सर्वे रिपोर्ट के साथ ही शपथ पत्र मांगा है। शपथ पत्र में इस बात का जिक्र होगा कि वीडियो और फोटो को सार्वजनिक नहीं किया जाएगा।

ये भी पढ़ें – Hyundai, Tata, Maruti की बढ़ी मुश्किलें, निसान मोटर कर रही बड़ी प्लानिंग

कोर्ट में मुस्लिम पक्ष ने हिंदू पक्ष के दावे पर आपत्तियां दर्ज कराईं। आज पहले मुकदमे की वैधता पर मुस्लिम पक्ष ने अपनी दलीलें जारी रखीं। अदालत ने दलील सुनने के बाद समय कम होने के कारण मामले को टाल दिया है। अब चार जुलाई को अदालत इसे सुनेगी। उस दिन भी मुस्लिम पक्ष अपनी दलील जारी रखेगा।

ये भी पढ़ें – आठ सालों में किया आठ सौ सालों का काम, रखी आधुनिक भारत की नींव और दुनिया ने माना हमार लोहा

हिंदू पक्ष के वकील विष्णु शंकर जैन ने मीडिया को बताया कि जिला न्यायाधीश एके विश्वेश की अदालत में केस के औचित्य संबंधी याचिका पर मुस्लिम पक्ष की जिरह जारी रही और उसके पूरा होने से पहले ही अदालत का समय समाप्त हो गया। इसके बाद अदालत ने कहा कि वह अब इस मामले को एक जून से शुरू होने वाली गर्मियों की छुट्टी के बाद चार जुलाई को सुनेगी। जैन ने बताया कि अदालत ने स्पष्ट कर दिया है कि परिसर की वीडियोग्राफी सर्वे की रिपोर्ट मामले के सभी पक्षों को उपलब्ध कराई जाएगी। मगर इसके लिए क्या शर्ते होंगी वह अदालत ही बताएगी।

ये भी पढ़ें – जबलपुर: केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल का दिखा अलग अवतार, लगाई पुलिसकर्मियों को फटकार, जाने कारण