Vaccine शाॅर्टेज : बिना वैक्सीन कैसे जीतेंगे कोरोना से जंग? जानें आपके राज्य का हाल

कई राज्यों (states) में वैक्सीन (vaccine) उपलब्ध ही नहीं है तो कई राज्यों में वैक्सीन का सिर्फ 2 या 3 दिन का स्टॉक (stock) ही बचा है। हालांकि, सरकार का कहना है कि वैक्सीन भरपूर मात्रा में उपलब्ध है जिसे समय समय पर उपलब्ध करवाया जाएगा।

gwalior

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। पूरे देश (nationwide) में कोरोना वैक्सीन (vaccine) की मांग बहुत तेज है। कोरोना का ग्राफ (graph) इतनी तेजी से बढ़ रहा है कि पिछले सभी रिकॉर्ड (record) टूट रहे हैं। मौतों का आकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। ऐसे में सभी को टीकाकरण (vaccination) से ही सारी उम्मीदें हैं। लेकिन कई जगह वैक्सीन की कमी होने की वजह से टीकाकरण केंद्र (vaccination centre) जाकर लोगों को मायूस हो कर लौटना पड़ा रहा है। कई राज्यों (states) में वैक्सीन (vaccine) उपलब्ध ही नहीं है तो कई राज्यों में वैक्सीन का सिर्फ 2 या 3 दिन का स्टॉक (stock) ही बचा है। हालांकि, सरकार का कहना है कि वैक्सीन भरपूर मात्रा में उपलब्ध है जिसे समय समय पर उपलब्ध करवाया जाएगा।

जानें विभिन्न राज्यों का हाल:

मध्यप्रदेश
मध्य प्रदेश के कई इलाकों में वैक्सीन की शॉर्टेज पाई गई है। सीएम शिवराज के गृहक्षेत्र सीहोर में वैक्सिनेशन ऑफिसर एम एल चंदेल ने बताया की जबसे सरकार ने 45 से अधिक उम्र वालों के लिए भी टीकाकरण अभियान शुरू किया है तबसे टीकाकरण केंद्र में टीको की डिमांड बहुत अधिक बढ़ गयी है हालांकि उस डिमांड को बखूबी पूरा किया गया है। लेकिन अब वैक्सीन की शॉर्टेज महसूस होने लगी है।

उत्तरप्रदेश
खबर है कि भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में न ही वैक्सिनेशन के लिए पर्याप्त स्टाफ है और न ही रेमडेसिवीर इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। वहीं बताया ये भी जा रहा है कि यहां पर कोरोना का टीके भी सीमित मात्रा में ही उपलब्ध हैं। वहीं सरकार ने इन बातों से इनकार किया है और कहा है कि वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। हालांकि जमीनी स्तर पर लोगों को वैक्सीन नहीं मिल पा रही है।

बिहार
बिहार में भी सरकार के दावों के बावजूद जमीनी स्तर पर लोगों को वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो पा रही थी। हालांकि राज्य सरकार की मांग पर केंद्र ने बिहार को कोविशील्ड के नौ लाख डोज़ भेजे हैं। इसके साथ ही बिहार सरकार ने केंद्र से 15 लाख अतिरिक्त वैक्सीन डोज़ की मांग की है। वहीं बिहार स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने वैक्सीन की कोई कमी नहीं बताई है।

दिल्ली
दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि राजधानी में सिर्फ 4 से 5 दिन का वैक्सीन स्टॉक बचा है। उन्होंने ये भी कहा कि केंद्र सरकार के अस्पतालों में कोरोना का टीका लगाने की रफ्तार धीमी है जिस वजह से आंकड़े कम नज़र आ रहे हैं।

हिमाचल
हिमाचल में 11 से लेकर 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाया जाएगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राज्य में कोरोना से हालात जानने के लिए और समीक्षा के लिए वर्चुअल माध्यम से बैठक में ये बात कही।

यह भी पढ़ें… सीएम शिवराज की क्राइसिस कमिटी के साथ बैठक, इंदौर में शुक्रवार तक बढ़ सकता है लॉकडाउन

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य को अब तक 35.83 लाख कोरोना वैक्सीन के डोज़ मुहैया करवाए जा चुके हैं। वर्तमान में 2 दिन तक चल सके इतना वैक्सीन का स्टॉक राज्य में है। सीएम ने केंद्र सरकार से 7 दिन के लिए वैक्सीन डोज़ देने की मांग की है।

राजस्थान
राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर कोरोना वैक्सीन के डोज़ मांगे हैं। राजस्थान सीएम का कहना है कि राज्य में वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो रहा है सिर्फ 2 दिन का स्टॉक ही शेष है। उन्होंने केंद्र से 30 लाख वैक्सीन के डोज़ भिजवाने की मांग की है।

यह भी पढे़ं… एक घर में दूसरी बार घुसे चोर, कुछ नहीं मिला तो खाना खाया, सुबह फ्रेश होकर भाग गए

ओडिशा
ओडिशा के कोविड टीकाकरण प्रभारी ने बताया कि राज्य में कोविशील्ड की 3.2 लाख डोज़ और कोवैक्सीन के 1 लाख डोज़ ही शेष रह गए हैं। इस स्टॉक के साथ सिर्फ 2 दिन और टीकाकरण अभियान को जारी रखा जा सकता है। इसके साथ ही राज्य के सीएम नवीन पटनायक ने केंद्र से टीकाकरण कार्यक्रम को जारी रखने हेतु 300 करोड़ रुपए की मांग की है।

झारखंड
राज्य में शुक्रवार को कोविशील्ड की 10 लाख 23 हजार 800 खुराक भिजवाई गयीं हैं। इसके बाद फिलहाल के लिए राज्य में वैक्सीन की किल्लत दूर हो गयी है।