इंदौर, आकाश धोलपुरे। पूर्व राज्यमंत्री नामदेव दास त्यागी उर्फ कम्प्यूटर बाबा आखिरकार जेल में बिताये 11 दिन के कारावास के बाद गुरुवार शाम को इंदौर की केंद्रीय जेल से रिहा हो गए है। अवैध अतिक्रमण, धारा 151, मारपीट और जातिसूचक सहित अन्य मामलों को लेकर वो पिछले 11 दिनों से इंदौर की सेंट्रल जेल में बन्द थे और दीपावली के पहले माना जा रहा था कि उनकी रिहाई संभव है। लेकिन तमाम कानूनी अड़चनों के बाद बाबा कि रिहाई दीपावली के पहले नहीं हो सकी और आज जब कंप्यूटर बाबा जेल से बाहर निकले तो मीडिया से बात कर उन्होंने अपने वकील रविन्द्र सिंह छाबड़ा और विभोर खंडेलवाल को धन्यवाद दिया।

वही प्रशासन से डरने के सवाल पर कहा मैं कुछ नहीं बोलूंगा, इधर इस दौरान उन्होंने कहा कि सत्य की जीत है। बता दें कि कंप्यूटर बाबा की रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट के जाने माने एडवोकेट डॉ. ए.पी. सिंह भी इंदौर में थे और उन्होंने आज बाबा से मुलाकात कर व्यवस्थाओ पर जमकर सवाल उठाए थे।

इधर, कंप्यूटर बाबा पर दर्ज चार मामलों में उनकी जमानत होने के बाद रिहाई तो हो गई है लेकिन अब सवाल ये उठता है कि बाबा का अगला कदम क्या होगा क्योंकि जेल से बाहर निकलने के दौरान वो मीडिया के सवालो से बचते नजर आए।