जबलपुर पुलिस ने पेश की मानवता की मिसाल, हर कोई कर रहा तारीफ, देखें वीडियो

थाना चरगवां में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक संतोष सेन ने अपने पुलिसकर्मी साथी एलआर पटेल, आरक्षक अशोक, राजेश, अंकित के साथ स्वयं घायलों को कंधे एवं गोद में लेकर मेडिकल कालेज की कैजुअल्टी तक दौड़ लगा दी। पुलिस के कंधे में घायलों की देख ये तस्वीर जो देखता बस देखता ही रह गया ।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर के चंदवा थाना अंतर्गत ग्राम गोगरी में आज सुबह करीब 50 मजदूरों से भरा एक पिकअप वाहन अचानक ही पलट गया। इस वाहन के पलटने से करीब 35 लोग घायल हो गए। आनन-फानन में सभी घायलों को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज पुलिस के द्वारा लाया गया।

मेडिकल कॉलेज पहुंचने पर घायलों की संख्या अधिक होने के कारण स्टेचर कम पड़ गए थे। जिसके बाद थाना चरगवां में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक संतोष सेन ने अपने पुलिसकर्मी साथी एलआर पटेल, आरक्षक अशोक, राजेश, अंकित के साथ स्वयं घायलों को कंधे एवं गोद में लेकर मेडिकल कालेज की कैजुअल्टी तक दौड़ लगा दी। पुलिस के कंधे में घायलों की देख ये तस्वीर जो देखता बस देखता ही रह गया ।

 

Asi संतोष सेन  का टूट चुका है कंधा

चरगवां थाना में पदस्थ सहायक उपनिरीक्षक संतोष सेन को वर्ष 2006 में जिला नरसिंहपुर में पदस्थापना के दौरान पवन यादव नाम के बदमाश ने दाहिने कंधे में गोली मार दी थी। जिससे सहायक उप निरीक्षक संतोष सेन का दाहिना हाथ ठीक तरह से काम नहीं करता है, इसके बाद भी जब संतोष ने देखा कि मेडिकल कॉलेज में स्ट्रेचर की कमी आ गई है, तो वह अपने कंधे की परवाह किए बिना ही मदद में जुट गए।

पिकअप वाहन चालक और मालिक के खिलाफ मामला दर्ज

शुरुआती जानकरी में पता चला है कि पिकअप वाहन क्रमांक एमपी 20 जीआर 9077 ग्राम कोहला की है, जिसका चालक मौके से भाग गया है। इधर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने मानवता की मिसाल पेश करने वाले सहायकस उप निरीक्षक एवं आरक्षकों को पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here