Amazing View : तीज पर आसमान में नजर आया हैरतअंगेज नजारा, चंद्रमा और शुक्र की चमक ने मोहा मन

Avatar
Updated on -
Amazing View

Amazing View : रविवार की शाम आसमान में एक अद्भुत नजारा लोगों को देखने को मिला। जिसकी कई तस्वीर है सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रही है। इन तस्वीरों में चंद्रमा के पास एक चमकता हुआ तारा देखने को मिला। इस नजारे ने सभी का मन मोह लिया। दरअसल शुक्ल पक्ष की तीज यानी अक्षय तृतीया के दिन हंसियाकार चंद्रमा और चमकता हुआ शुक्र ग्रह एक दूसरे से मुलाकात करते नजर आया।

शुक्र के साथ चंद्रमा की जोड़ी देखकर लोग खुश हुए। ऐसा नजारा बहुत कम देखने को मिलता है। लेकिन इस साल दूसरी बार लोगों को अद्भुत नजारा आसमान में देखने को मिला। इसको लेकर भोपाल की नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू द्वारा बताया गया है कि मून और वीनस के बीच एक डिग्री से कुछ अधिक का ही अंतर था।

ऐसे में सूर्यास्त के बाद जैसे-जैसे आसमान की रौशनी कम होने लगी वैसे वैसे चंद्रमा और शुक्र की जोड़ी चमकती हुई दिखाई देने लगी। दोनों वृषभ तारामंडल के सामने थे। इसे अर्थशाइन के नाम से जाना जाता है। ऐसे में चंद्रमा आधा होते हुए भी पूरा गोलाकार का होने का आभास करवाता है।

इस नज़ारे को देख कर ऐसा लग रहा था मानो चंद्रमा ने पृथ्वी से चमक मांगकर वीनस के साथ जोड़ी बनाई हो। जानकारी के मुताबिक, वीनस माइनस 4.12 मैग्नीट्यूड से और चंद्रमा माइनस 10.3 मैग्नीट्यूड चमक रहा था। भारत की कई जगहों पर इस नजारे को देखा गया। सभी ने सोशल मीडिया पर भी इस अद्भुत नजारे की तस्वीरें शेयर की है। लगभग 2 घंटे 50 मिनट तक ये दोनों साथ रहे।

विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया 

amazing view

नेशनल अवार्ड प्राप्‍त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि रविवार को मून और वीनस के बीच 1 डिग्री से कुछ अधिक का ही अंतर दिख रहा था । सूर्यास्‍त के बाद जैसे –जैसे आकाश की ला‍लिमा कम होती गई इस जोड़ी की चमक बढ़ती दिखने लगी । ये दोनों वृषभ तारामंडल के सामने थे ।इनमें से वीनस तो पृथ्‍वी से लगभग 15 करोड़ 52 लाख किमी दूर था तो चंद्रमा मात्र 3 लाख 90 हजार 700 किमी था। लेकिन उनका पृथ्‍वी से दिखने वाला कोण इस प्रकार का था कि वे मिलते से दिख रहे थे । इनमें से वीनस माईनस 4.12 मैग्‍नीट्यूड से और चंद्रमा माईनस 10.3 मैग्‍नीट्यूड चमक रहा था । अनेक स्‍थानों पर इस मिलन को देखा गया लेकिन कुछ स्‍थानों पर कुछ समय बाद में बादल बाधा बनें ।

 

 


About Author
Avatar

Ayushi Jain

मुझे यह कहने की ज़रूरत नहीं है कि अपने आसपास की चीज़ों, घटनाओं और लोगों के बारे में ताज़ा जानकारी रखना मनुष्य का सहज स्वभाव है। उसमें जिज्ञासा का भाव बहुत प्रबल होता है। यही जिज्ञासा समाचार और व्यापक अर्थ में पत्रकारिता का मूल तत्त्व है। मुझे गर्व है मैं एक पत्रकार हूं। मैं पत्रकारिता में 4 वर्षों से सक्रिय हूं। मुझे डिजिटल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया तक का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कंटेंट राइटिंग, कंटेंट क्यूरेशन, और कॉपी टाइपिंग में कुशल हूं। मैं वास्तविक समय की खबरों को कवर करने और उन्हें प्रस्तुत करने में उत्कृष्ट। मैं दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली से संबंधित विभिन्न विषयों पर लिखना जानती हूं। मैने माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से बीएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में ग्रेजुएशन किया है। वहीं पोस्ट ग्रेजुएशन एमए विज्ञापन और जनसंपर्क में किया है।

Other Latest News