सोना पहनने से दूर होते हैं कुंडली के ये दोष, इस ग्रह से है इसका सीधा संबंध, जानें नियम

Gold wearing benefits : गुरु ग्रह से सोने का सीधा संबंध माना जाता है। इसे धारण करने से बृहस्पति ग्रह मजबूत होता है जो जीवन की तमाम समस्या दूर कर जीवन को खुशहाल बनता है और धन धान्य से परिपूर्ण करता है।

Gold wearing benefits : अक्सर लोगों को अपने सोना पहने हुए देखा होगा। बहुत लोग सोना पहनने के शौकीन होते हैं। हिंदू धर्म में भी गोल्ड का काफी ज्यादा महत्व माना गया है। ये एक महत्वपूर्ण धातु माना जाता है। इसके धारण करने से व्यक्ति की सुंदरता बहुत बढ़ जाती है। सुंदरता में चार चांद लग जाते हैं। इतना ही नहीं ज्योतिष शस्त्र में भी इसका काफी ज्यादा महत्व माना गया है।

कहा जाता है कि कई लोगों का भाग्य इसके पहनने से चमक जाता है। आज हम आपको सोना पहनने से होने वाले लाभ के बारे में बताने जा रहे हैं। इतना ही नहीं कई लोगों के लिए सोना पहनना इतना शुभ माना जाता है कि इससे कुंडली के कई दोष भी दूर हो जाते हैं और जीवन खुशहाल बन जाता है। चलिए जानते हैं गोल्ड पहनने से होने वाले फायदों के बारे में –

गोल्ड पहनने के नियम

गले में और हाथ की उंगलियों में सोने की अंगूठी, चैन पहनना शुभ माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति ये धारण करता है तो उसे हमेशा अंगूठी को तर्जनी उंगली में पहनना चाहिए और गले में सोने की चैन। ऐसा करने से एकाग्रता में वृद्धि होती है। साथ ही दांपत्य जीवन खुशहाल बनता है। इसके अलावा संतान सुख की प्राप्ति के लिए हमेशा जातकों को अनामिका अंगुली में सोना पहनना चाहिए। इतना ही नहीं मेष, कर्क, सिंह और धनु राशि के जातकों को सोना खरीदना चाहिए। ये शुभ साबित होता है। ऐसा करने से उत्तम फल की प्राप्ति होती है।

सोने का ग्रहों से है सीधा संबंध

गुरु ग्रह से सोने का सीधा संबंध माना जाता है। इसे धारण करने से बृहस्पति ग्रह मजबूत होता है जो जीवन की तमाम समस्या दूर कर जीवन को खुशहाल बनता है और धन धान्य से परिपूर्ण करता है। इसके धारण करने से सुख समृद्धि बनी रहती है। इतना ही नहीं इससे कई तरह के शारीरिक लाभ भी होते हैं। सबसे ज्यादा फायदा इसके धारण करने से तुला और मकर राशि के जातकों को होता है।

गृह दोष दूर होता है

सोना पहनने से कुंडली में मौजूद ग्रह दोष दूर होता है और जीवन खुशहाल बनने। हाथ में सोने की अंगूठी धारण करने से सबसे ज्यादा लाभ की प्राप्ति होती है। ये भाग्यशाली माना जाता है। इससे मान सम्मान में भी वृद्धि होती है।

डिस्क्लेमर – इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह लें।