बसंत पंचमी पर मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए लगाएं ये 5 भोग, वाणी और विद्या में होंगे निपुण

Basant panchami: बसंत पंचमी ज्ञान और कला की देवी मां सरस्वती को समर्पित एक महत्वपूर्ण त्योहार है। साल 2024 में यह त्योहार 14 फरवरी को मनाया जाएगा। इस दिन, भक्त मां सरस्वती की पूजा करते हैं और उनसे ज्ञान, बुद्धि और सफलता का आशीर्वाद मांगते हैं।

bhog

Basant panchami: मां सरस्वती को ज्ञान की देवी कहा जाता है। बसंत पंचमी का त्योहार मां सरस्वती को समर्पित है। ऐसा कहा जाता है कि जिस भी व्यक्ति पर मां सरस्वती की कृपा बनी रहती है वह वाणी और विद्या में निपुण होते हैं। हर साल माघ माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का त्यौहार मनाया जाता है। साल 2024 में यह त्यौहार 14 फरवरी को मनाया जाएगा। इस दिन विधि विधान से मां सरस्वती की पूजा की जाती। स्कूलों, कॉलेजों और घरों में अलग-अलग आयोजन भी किए जाते हैं। इस दिन पीले रंग का विशेष महत्व है, सभी लोग इस दिन पीले रंग के वस्त्र धारण करते हैं। इतना ही नहीं पीले रंग का भोजन भी ग्रहण करते हैं। अगर आप यह सोच रहे हैं कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए क्या भोग लगाना चाहिए, तो हम आपको इस लेख के द्वारा बताएंगे कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती को क्या-क्या भोग लगाना शुभ माना जाता है, तो चलिए जानते हैं।

मान्यतानुसार, जो भक्त मां सरस्वती की पूजा करते हैं और उन्हें भोग लगाते हैं, उन्हें मां की कृपा प्राप्त होती है। मां सरस्वती उन्हें ज्ञान, बुद्धि, और सफलता का आशीर्वाद देती हैं।

मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए क्या भोग लगाएं

1. खीर: खीर एक मीठा व्यंजन है जो ज्ञान और बुद्धि का प्रतीक है। यह मां सरस्वती को बहुत प्रिय है। लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखें कि अगर आप मां सरस्वती को खीर का भोग लगा रहे हैं तो उसमें केसर जरूर मिलाएं। केसर मिलाने से खीर का रंग हल्का पीला हो जाता है, मां सरस्वती को पीला रंग बेहद पसंद है।

2. हलवा: हलवा भी एक मीठा व्यंजन है जो मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए लगाया जाता है। लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखें की हलवा चने की दाल का ही बनाएं। चने की दाल का हलवा पीले रंग का होता है। अगर आप चने की दाल का हलवा नहीं बना रहे हैं तो आप जिस भी प्रकार का हलवा बनाएं उसमें पीला रंग जरूर मिलाएं।

3. फल: फल ज्ञान और जीवन का प्रतीक हैं। भक्त मां सरस्वती को विभिन्न प्रकार के फल, जैसे कि केला, पपीता, और संतरा, भोग में लगा सकते हैं। ध्यान रखें की जो भी फल आप मां सरस्वती को अर्पित करें वह पीला रंग का ही है।

4. बूंदी या बेसन के लड्डू: बसंत पंचमी के दिन आप मां सरस्वती को बेसन या बूंदी के लड्डू का भी भोग लगा सकते हैं। मां सरस्वती को पीले रंग की मिठाई अत्यंत प्रिय है।

4. पीले चावल: बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए आप मीठे चावल का भोग भी लगा सकते हैं।

बसंत पंचमी के दिन, इन बातों का विशेष ध्यान रखें

1. सुबह स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
2. मां सरस्वती की प्रतिमा को चौकी पर स्थापित करें।
3. मां सरस्वती को दीप, धूप, और फल अर्पित करें।
4. मां सरस्वती के मंत्रों का जाप करें।
5. भोग लगाने के बाद, मां सरस्वती की आरती करें।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News