Rajyog 2023 : बुध गोचर से बना यह राजयोग खोलेगा 3 राशियों की किस्मत! करियर-व्यापार में तरक्की, अपार धनलाभ के प्रबल योग

Pooja Khodani
Updated on -
grah gochar rajyog

Budh Gochar/Viprit Rajyog 2023 : ज्योतिष में ग्रहों, कुंडली और राजयोग का बड़ा महत्व होता है। हर ग्रह एक निश्चित समय पर राशि बदलता है, जिससे युति और राजयोग का निर्माण होता है । हाल ही में ग्रहों के राजकुमार और व्यापार, बुद्धि, विवेक और वाणी के कारक बुध ने वृश्चिक राशि में प्रवेश किया है, जिससे महा विपरीत राजयोग का निर्माण हो रहा है, जो 4 राशियों के लिए बेहद लकी साबित होने वाला है।

कब बनता है विपरित राजयोग

ज्योतिष के अनुसार, जब किसी जातक की कुंडली में छठे भाव का स्वामी अष्टम या द्वादश भाव में विराजमान होता है, जब अष्टम भाव का स्वामी द्वादश या षष्ठम भाव में होता है, या फिर जब द्वादशेश षष्ठम या अष्टम भाव में होता है तो विपरीत राजयोग बनता है। यानी विपरीत राजयोग में त्रिक भाव (छह, आठ, बारहवां भाव) और इनके स्वामियों की ही भूमिका अहम होती है। विपरीत राजयोग तीन प्रकार का होता है- हर्ष, सरल और विमल।

Continue Reading

About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)