IPL 2024: आईपीएल 2024 की पहली फाइनल टीम बनी कोलकाता क्या जीत पाएगी ये सीजन, टीम को अब तीसरी खिताबी जीत का इंतजार

IPL 2024: इस बार के आईपीएल सीजन में कोलकाता नाइटराइडर्स बेहतरीन फॉर्म में चल रही है। सनराइजर्स हैदराबाद को हराकर कोलकाता आईपीएल 2024 के फाइनल में पहुंचनी वाली पहली टीम बन गई है।

IPL 2024: आईपीएल 2024 अब आखिरी पड़ाव पर आ चुका है। अब सिर्फ तीन टीम मुकाबले के लिए मैदान में हैं जहां कोलकाता नाइटराइडर्स पहले ही फाइनल में पहुंच चुकी है। इस सीजन के क्वॉलिफायर-1 में कोलकाता नाइटराइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच मुकाबला हुआ था। जिसमें कोलकाता की टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए हैदराबाद को हरा दिया। इसी के साथ वो फाइनल में पहुंच गई। इस बार के सीजन में केकेआर का पलड़ा बाकी दो के मुकाबले भारी है।

​शानदार फॉर्म में कोलकाता की टीम

आईपीएल के 17वें सीजन में केकेआर प्लेऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम बन चुकी है। कोलकाता नाइटराइडर्स की पूरी टीम बेहतरीन फॉर्म में चल रही है। सुनील नरेन और फिल साल्ट ने लगभग हर मैच में टीम को तूफानी शुरुआत दिलाई। तो वहीं टीम के स्टार बल्लेबाज आंद्रे रसेल का बल्ला जमकर गरज रहा है, टीम के कप्तान श्रेयस अय्यर टिकाऊ पारी खेल जाते हैं। हर्षित राणा और वैभव अरोड़ा जैसे गेंदबाजों के साथ मिचेल स्टार्क का अनुभवी पेस बॉलिंग अटैक उसे इस सीजन में जीत दिला सकता है।

अब तक के मुकाबले में कोलकाता आगे

कोलकाता नाइटराइडर्स के पास अच्छी रणनीति है। टीम के लिए गौतम गंभीर और हेड कोच चंद्रकांत पंडित की जुगलबंदी उसे जीत दिला रही है। वहीं अभी तक अंक तालिका में टीम के पास सबसे ज्यादा अंक है। जिस तरह से कोलकाता की टीम ने सनराइजर्स हैदराबाद की कमजोरी को पकड़ा वो काबिले तारिफ है। बता दें कि दोनों टीमों के बीच अब तक आईपीएल के 26 मुकाबले खेले गए जिसमें 17 कोलकाता तो सिर्फ कोलकाता ने ही जीते है।

केकेआर के खिलाड़ियों के पास अनुभव

कोलकाता नाइटराइडर्स दो बार आईपीएल चैंपियन रह चुकी है। वहीं साल 2021 में फाइनल तक पहुंची थी। ऐसे में टीम के पास ऐसे अनुभवी खिलाड़ी है जो विपरीत परिस्थितियों में भी खेल सकते है। वहीं टीम के खिलाड़ियों को बड़े मैच का दबाव झेलने की आदत है, जिससे खिलाड़ियों पर अतिरिक्त प्रेशर नहीं आता। अब देखना ये होगा कि क्या टीम इस बार का सीजन अपने नाम कर पाती है या नहीं।


About Author
Saumya Srivastava

Saumya Srivastava