भय्यू महाराज सुसाइड केस में बहन मधुमती का बड़ा खुलासा

इंदौर।

मध्यप्रेदश के बहुचर्चित भय्यू महाराज खुदकुशी मामले में जिला व सत्र न्यायालय में आरोपियों के खिलाफ ट्रायल शुरू हो गया है। बुधवार को महाराज की बहन मधुमती गवाही देने कोर्ट पहुंची।मधुमिता ने बयानों में दर्ज कराया है कि विनायक, पलक और शरद द्वारा किए गए कृत्यों के चलते ही भय्यू महाराज ने आत्महत्या की है ।

उन्होंने न्यायालय में कहा कि  विनायक महाराज के बहुत भरोसे का था। महाराज सबसे ज्यादा भरोसा उसी पर करते थे। महाराज को विनायक, शरद और पलक प्रताड़ित करते थे। महाराज तीनों आरोपितों की प्रताड़ना से पीड़ित थे। महाराज के बीमार होने पर तीनों आरोपित ही उन्हें दवाई देते थे। आरोपितों की प्रताड़ना से परेशान होकर ही महाराज ने यह कदम उठाया था। आरोपितों की तरफ से प्रतिपरीक्षण शुरू हुआ, जो अधूरा रहा। प्रकरण में अब गुरुवार को सुनवाई होगी।आज गुरुवार को फिर बयान और प्रतिपरीक्षण होगा।इस दिन महाराज की छोटी बहन अनुराधा के बयान होंगे।

 बुधवार को भी केस डायरी नहीं प्रस्तुत की गई। कोर्ट ने आवेदन स्वीकारते हुए गुरुवार को केस डायरी प्रस्तुत करने के आदेश दिए। एडवोकेट मिश्रा ने बताया कि गुरुवार को महाराज की छोटी बहन अनुराधा के बयान होंगे। वे बयान देने के लिए पुणे से इंदौर आई हैं। पुलिस ने अब तक इस मामले भय्यू महाराज के खास सेवादार विनायक , शरद , पलक को गिरफ्तार किया है ।पुलिस ने इस मामले की जांच में अब तक ये पाया था कि अब भय्यू महाराज पर उनके खास सेवादारों ने दबाव बनाकर उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर किया था।

कोर्ट ने पुलिस को पूरे प्रमाण पेश करने के लिए कहा है। पुलिस ने घटना के बाद लगभग 90 लोगों के पूछताछ के बाद बयान दर्ज किए थे। यह जानकारी पुलिस ने कोर्ट में नहीं दी है। महाराज की पत्नी और बेटी को भी गवाह के रूप में हाजिर होना है। इन्हें भी कई बार नोटिस जा चुके हैं, लेकिन उपस्थित नहीं हो रहीं।


"To get the latest news update download the app"