लोकायुक्त का शिकंजा, बाबू और स्टेनो रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार

सागर।

मध्यप्रदेश के सागर जिले के बीना में लोकायुक्त ने बड़ी कार्रवाई की है। टीम ने बाबू और स्टेनो को 28 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथो गिरफ्तार किया है।बताया जा रहा है कि यह रिश्वत वाणिज्य कर विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर द्वारा मांगी गई थी जो  बाबू, स्टेनो के माध्यम से अधिकारी तक पहुंचाई जानी थी। आरोप है कि असिस्टेंट कमिश्नर ने यह रिश्वत जीएसटी की फाइलों में सुधार के लिए मांगी थी।

मिली जानकारी के अनुसार, आज बुधवार को  वाणिज्य कर विभाग के बाबू और स्टेनों को रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया। सिंधी कॉलोनी निवासी शिकायतकर्ता कर अधिवक्ता प्रकाश रोहरा ने बताया कि कुछ दिन पहले एक व्यापारी ने जीएसटी भरते समय गलती कर दी थी और उसके सुधार के लिए यहां आए थे तो असिस्टेंट कमिश्नर रीतेश तांडिया ने रुपयों की मांग की थी। इसकी शिकायत उन्होंने सागर लोकायुक्त से की थी।इसके बाद टीम ने भी मामले को गंभीरता से लेते हुए योजना बनाई और रिश्वत के पैसे लेकर बाबू और स्टेनों के पास भेजा। जैसे ही  बाबू महेन्द्रसिंह यादव और स्टेनो लखनलाल अहिरवार ने रुपए लिए लोकायुक्त टीम ने दोनों को रंगे हाथों दबोच लिया।

डीएसपी लोकायुक्त राजेश खेड़े ने बताया कि 28 हजार रुपए की रिश्वत में 10 हजार रुपए असिस्टेंट कमिश्नर, 10 हजार रुपए स्टेनो और 8 हजार रुपए बाबू के थे। अस्स्टिेंट कमिश्नर कार्रवाई के दौरान मौजूद नहीं थे और स्टोनो व बाबू ने रुपए रख लिए थे। इस मामले में तीनों पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

"To get the latest news update download the app"