कांग्रेस 30 जुलाई को जारी करेगी उम्मीदवारों की पहली सूची, 30 प्रतिशत नए चेहरों को मिलेगा मौक़ा

भोपाल| मध्य प्रदेश में चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपनी तैयारी तेज कर दी है| अपनी चुनावी रणनीति को लेकर भी कांग्रेस ने अपने पत्ते खोल दिए हैं| पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि कांग्रेस आगामी 30 जुलाई को विधानसभा चुनाव के लिए 70 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर देगी।  इसके लिए मध्यप्रदेश चुनाव स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री 13 जुलाई को भोपाल आएंगे। प्रेजेंटेशन 13 और 14 जुलाई को स्क्रीनिंग कमेटी के सामने दिया जाएगा। पहली लिस्ट में लगभग 70 उम्मीदवारों के नाम शामिल होंगे।  वहीं खजुराहो में कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने टिकट बंटबारे का फार्मूला मीडिया के सामने जाहिर किया| 

खजुराहो नगर परिषद प्रेस कॉन्फ्रेंस हॉल में पत्रकार वार्ता करते हुए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि इस बार कांग्रेस पूरी शक्ति के साथ विधानसभा चुनाव लड़ेगी इसमें ना तेरा होगा ना मेरा होगा जो भी प्रत्याशी  होगा वह कांग्रेस का होगा और उसी को जिताने के लिए पूरे कांग्रेसी एकजुट होगी| टिकट बंटवारे के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बार लगभग 70 सीटें उन्  कैंडिडेट को दी जाएंगी जिन्होंने पहले विधायक का चुनाव न लड़ा हो लेकिन वे किसी राजनीतिक पद पर रहे हो फिर चाहे वह जिला पंचायत सदस्य, जनपद अध्यक्ष, नगर परिषद अध्यक्ष या ब्लॉक अध्यक्ष क्यों ना हो । सिंधिया ने कहा कांग्रेस की आगामी विधानसभा चुनाव में पहली संभावना जीत होनी चाहिए। कांग्रेस पार्टी एक सर्वे करा रही है। सर्वे के आधार पर जिस व्यक्ति का नाम आएगा उसके बारे में स्थानीय नेताओं से चर्चा कर उसे टिकट दिया जाएगा।

सिंधिया ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए बताया कि भाजपा महिला और बच्चियों की इज्जत बचाने में नाकामयाब है, मध्यप्रदेश रेप के मामले में नंबर वन है, किसान कर्ज एवं सूखे के कारण आत्महत्या करने पर मजबूर है, जिन किसानों ने शिवराज सिंह को वोट देकर मुख्यमंत्री बनाया उनका कर्ज माफ करने की तो छोड़ो उनके सीने पर गोलियां चलवा रहे हैं शिवराज सिंह चौहान| सिंधिया ने कहा कि यदि कांग्रेस की सरकार मध्यप्रदेश में बनती है तो किसान का पूर्ण कर्ज माफ 10 दिवस के भीतर किया जाएगा | अधिकारी मस्त जनता त्रस्त आज मध्यप्रदेश का यही हाल है उन्होंने कहा कि ना किसान सुरक्षित है ना महिलाएं सुरक्षित है और ना ही पत्रकार सुरक्षित हैं |