सोनिया की दो टूक- कद में बड़ा हो या छोटा, अनुशासनहीनता पर छिन जाएगी कुर्सी

भोपाल/नई दिल्ली।

बीते दिनों एमपी में कांग्रेस नेताओं की बीच हुई बयानबाजी और आरोप-प्रत्यारोप से देशभर में पार्टी की हुई किरकिरी के बाद अध्यक्ष सोनिया गांधी सख्त हो चली है। उमंग बनाम दिग्विजय विवाद को अनुशासन कमेटी को सौंपने के बाद सोनिया ने अब प्रदेश के नेताओं के लिए एक नई गाइड लाइन भी जारी की है। इस गाइड लाइन में कहा गया है कि यदि बिना किसी ठोस प्रमाण के किसी नेता ने दूसरे पर आरोप लगाए तो उसे पद से हटा दिया जाएगा, चाहे वह बड़ा हो या छोटा।

 खबर है कि नेताओं की अनुशासनहीनता के बाद पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने  कांग्रेस पार्टी के लिए यह  गाइड लाइन जारी की है जिसके मुताबिक कांग्रेस नेता यदि बिना किसी प्रमाण के एक दूसरे पर आरोप लगाते हैं तो उनसे कुर्सी छीन ली जाएगी, फिर चाहे वह कद में बड़ा हो या छोटा।सोनिया की इस गाइड लाइन के बाद नेताओं में हलचल मच गई है, हर कोई विवादित बयान देने से बच रहा है।

इस संबंध में सोनिया गांधी की बात मुख्यमंत्री कमलनाथ और प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया से भी हो चुकी है। वहीं उमंग सिंघार विवाद मामले में अनुशासन समिति के अध्यक्ष एके एंटोनी से दो सप्ताह में कार्रवाई की सिफारिश के साथ रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। एंटोनी इस मामले से जुड़े सभी पक्षों से बात कर रहे हैं।संभावना जताई जा रही है कि रिपोर्ट आने के बाद उमंग सिंघार पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है।


"To get the latest news update download the app"