चुनाव परिणाम से पहले फ्रंट फुट पर डटे कमलनाथ, सिंधिया ने बनाई दूरी

भोपाल। कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी मध्य प्रदेश नेताओं की गुटबाजी को खत्म करने के कई बार संदेश दे चुके हों, लेकिन इन दावों की धरातल पर की पोल खुल ही जाती है। प्रदेश में विधानसभा चुनाव के नतीजों से पहले कांग्रेस में एक बार फिर बैनर सियासत शुरू हो गई है। सरकार बनने से पहले ही पीसीसी चीफ कमलनाथ फ़्रंट फुट पर नजर आ रहे हैं। मतगणना के लिए प्रत्याशियों को तैयार करने के लिए कमलनाथ ने सभी प्रत्याशियों को बुलाया। इस दौरान मंच पर लगे बैनर में मध्य प्रदेश से सिर्फ कमलनाथ की फोटो नजर आई। वहीं चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया की फोटो बैनर में शामिल नहीं की गई, बल्कि सिंधिया भी इस बैठक में शामिल नहीं हुए, जिसको लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। 


दरअसल, नतीजे से पहले ही कांग्रेस में सीएम को लेकर घमासान शुरू हो गया है, समर्थक अपने अपने नेता के लिए आगे आ गये हैं। मतगणना के प्रशिक्षण के लिए भोपाल पहुंचे प्रत्याशियों में से कुछ ने जब कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की तो सिंधिया समर्थक भी आगे आये और सिंधिया को युवा चेहरा बताते हुए उन्हें सीएम बनाने की मांग कर दी। एक के बाद एक प्रत्याशियों ने सिंधिया के लिए लॉबिंग शुरू कर दी। वहीं प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर कमलनाथ बैठक में प्रत्याशियों के सामने फ्रंट फुट पर रहे, बैनर में भी सिर्फ उन्ही की फोटो लगाई गई| चुनाव से पहले साथ साथ चलने वाले सिंधिया इस बैठक में नहीं पहुंचे और न ही बैनर में उनकी फोटो दिखाई दी|  जबकि सभी वरिष्ठ नेता जो चुनाव में सक्रिय रहे यहां मौजूद थे। लेकिन सिंधिया की अनुपस्थिति और पोस्टर से फ़ोटो गायब होने से चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है।  

कमलनाथ की क्लास में कई प्रत्याशी अनुपस्थित 

कमलनाथ द्वारा बुलाई गई प्रत्याशियों की बैठक में राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, सुरेश पचौरी, अरुण यादव और मीडिया प्रभारी शोभा ओझा भी शामिल रहे, लेकिन सिंधिया की कमी खलती नजर आई। बैठक में सभी बड़े नेताओं के शामिल होने के बावजूद सिंधिया के दूरी बनाने पर अब सवाल खड़े होने लगे है। साथ ही यह पोस्टर भी अपनी एक अलग बात कह रहा है। क्या नतीजों से पहले सिंधिया फिर नाराज हो गए या क्या पार्टी में कुछ ठीक नही है या फिर कुछ और। ये सवाल इसलिए भी उठ रहे है क्योंकि इस बैठक से दूरी बनाने वाले सिंधिया आज शाम को सोशल मीडिया के जरिए कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। कांग्रेस ने सिंधिया के बातचीत को #InConversationWith ज्योतिरादित्य सिंधिया दिया है। इस दौरान लोग सीधे सिंधिया से सवाल कर सकते हैं। वही 10 प्रत्याशियों के बैठक में शामिल ना होने पर भी चर्चाएं होती रही। इसे सिंधिया से जोड़कर देखा जा रहा है। बैठक में शामिल न होने वालों में रामनिवास रावत, ओम पटेल और देवेन्द्र पटेल सहित कुछ उम्मीदवार शामिल है। खबर है कि इन्होंने अपनी अनुपस्थिति की अर्ज़ी पहले ही कमलनाथ को भेज दी थी। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम को लेकर कमलनाथ ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

बंद कराये मोबाइल, प्रत्याशियों को नसीहत 

बैठक में कमलनाथ ने सभी उम्मीदवारों को नसीहत दी है। वहीं, सरकार बनाने को लेकर कमलनाथ पूरी तरह आश्वस्त नजर आए। वायरल वीडियो के बाद पिछली मीटिंग की गलतियों से कमलनाथ ने इस बार सबक लिया है। कांग्रेस प्रत्याशियों की बैठक में कमलनाथ ने भाग लेने वाले सभी उम्मीदवारों के मोबाइल बंद करवा दिए हैं और बैठक की बात बाहर नहीं जाने के निर्देश दिए हैं । कमलनाथ ने कहा सभी उम्मीदवारों को मतगणना में नियमो की जानकारी होना जरूरी है क्योंकि कई सीटें हम मतगणना में हार जाते हैं।

"To get the latest news update download tha app"