Breaking News
जेल की हवा खाने वाली 'भांजियों' को नहीं मिलेगी ऊंचाई में छूट! | कैबिनेट बैठक, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | कांग्रेस के पोस्टर वॉर पर बोले पवैया- सूत न कपास, जुलाहों मैं लट्ठमलट्ठा | अगला CM कौन... 'सिंधिया' या 'कमलनाथ', पोस्टर वॉर से कांग्रेस में मचा घमासान | जूडा का अनोखा विरोध, MYH के सामने लगाई समानांतर ओपीडी | संगठन नहीं शिवराज के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेगी भाजपा | अटकलों पर लगा विराम, किसी भी कीमत पर नही बिकेगा किशोर कुमार का पुश्तैनी घर | अंतर्राज्यीय चंदन तस्कर गिरोह का पर्दाफाश, वर्दी का रौब दिखाकर करते थे तस्करी |

एमपी : किसान ने खेत में लगाई फांसी, कर्ज से था परेशान

खरगोन।

मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में आज सुबह शनिवार को कर्ज से परेशान होकर एक किसान ने अपने ही खेत में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मामला खरगोन जिले के बिस्टान पुलिस थाने के गाड़ाघाट का है।बताया जा रहा है कि किसान पर 80  हजार का कर्जा था। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। पुलिस पता लगा रही है कि क्या वाकई में किसान पर कर्जा था ।

जानकारी के अनुसार, जिले के गाड़ाघाट में रहने वाले किसान रणछोड़ जिरभान ने आज सुबह शनिवार को (65 वर्ष ) ने अपने ही खेत में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।  बताया जा रहा है कि किसान पर 80 हजार का सोसायटी और बिजली बिल का बकाया था, वही कर्जदार उसे बार बार पैसे जमा करने को कहते थे,  जिसको लेकर वह दिन रात परेशान रहता था।इन्ही सब बातों से तंग आकर उसने खेत मे जाकर फांसी लगा ली।हालांकि उसके पास से कोई सुसाइड नोट नही मिला है।फिलहाल पुलिस मामले में जांच में जुट गई है। वही परिजनों से भी पूछताछ की जा रही है। परिजनों के बयानों के आधार पर आगे की जांच की जाएगी।

बता दे कि अभी एक जुलाई से शिवराज सरकार ने संबल योजना लागू की है, जिसमें किसानों के बिजली के बिल माफ किए गए है और हर महिने 200 में बिजली देने का वादा किया गया है। लेकिन इस तरह की घटनाओं से ये साबित होता है कि अभी भी किसानों को सरकार की योजनाओं का पूर्ण लाभ नही मिल रहा और सरकार किसानों की खुशहाली के खोखले दावे कर रही है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...