बावरिया की दो टूक, 'कांग्रेस में दुकान चलाने वालों को बख्शा नहीं जायेगा'

भोपाल| मध्य प्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस में कार्यकर्ताओं की सुनवाई नहीं हो रही है| इसकी शिकायत कई बार कार्यकर्ता अपने नेताओं के सामने कर चुके हैं| इसको लेकर अब एक बार फिर प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने मंत्री नेताओं को नसीहत दी है| पीसीसी में बुलाई गई संगठन की बड़ी बैठक में बावरिया ने कहा कि कार्यकर्ताओं की अभी भी सुनी नहीं जा रही है, मंत्रियों को उनकी बात सुननी ही पड़ेगी| उन्होंने कहा कि अच्छा काम करने वालों को पार्टी में सम्मान मिलना चाहिए| दुकान चलाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा| 

केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ कांग्रेस बड़ा प्रदर्शन करने जा रही है| इसी सिलसिले में पीसीसी में बैठक का आयोजन किया गया| बैठक में प्रदेश भर से ज़िलाध्यक्षों और प्रभारियों को बुलाया गया| इसमें प्रदर्शन की रणनीति तय की गई, बैठक में मुख्यमंत्री कमलनाथ भी शामिल हुए| सूचना दिए जाने के बाद भी जो बैठक में शामिल नहीं हुए उनको लेकर दीपर बावरिया ने नाराजगी जाहिर की| उन्होंने कहा कि कई लोग इस बैठक में नहीं आएं हैं, उनकी सूची बनाकर दी जाए करवाई की जायेगी| 

बावरिया ने कहा केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ दिल्ली में होने वाले कांग्रेस के प्रदर्शन में मध्य प्रदेश के कार्यकर्ताओं को भी ताकत दिखानी है| बावरिया ने आपको ज्यादा बड़ा टारगेट नही दे रहा हूँ आप सिर्फ 30 से 40 हजार लोग ही जुटा लेना| वहीं उन्होंने कहा घोषणा पत्र में किये गए वादों को पूरा करने के लिए वचनपत्र की निगरानी के लिए मेनिफेस्टो इम्प्लीमेंटेशन समिति बनाई जा रही है , जो देखेगी कितने वचन पूरे किए, कितने बचे।  

"To get the latest news update download the app"